नई दिल्ली । भारतीय महिला हॉकी टीम कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन से परेशान प्रवासी श्रमिकों के परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए एक अभियान शुरु करेगी। इसके लिए महिला टीम  ने जनभागीदारी के जरिये राहत कोष बनाने का फैसला किया है। हॉकी इंडिया के अनुसार भारतीय कप्तान रानी रामपाल ने कहा, ''हर दिन हम अखबारों और सोशल मीडिया में पढ़ रहे हैं कि बहुत सारे लोग भोजन के लिए संघर्ष कर रहे हैं, ऐसे में हमने एक टीम के रूप में इन लोगों को मदद करने के लिए कुछ करने का फैसला किया है।''
रानी से कहा, ''हमने सोचा कि इसके लिए एक ऑनलाइन फिटनेस चुनौती पेश करना सबसे अच्छा रहेगा। इससे हम लोगों से राष्ट्रव्यापी बंद के दौरान सक्रिय रहने को भी कहेंगे साथ ही उनसे दान राशि की भी अपील की जाएगी। इस पहल के माध्यम से हमारा लक्ष्य कम से कम 1000 परिवारों के भोजन की व्यवस्था करना है ।''
जनभागीदारी से प्राप्त इस धनराशि को दिल्ली स्थित गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) उदय फाउंडेशन को दान किया जाएगा। इसका इस्तेमाल विभिन्न स्थानों पर रह रहे प्रवासी श्रमिकों, गरीबो और बीमार लोगों के लिए बुनियादी आवश्यकताएं प्रदान करने के लिए किया जाएगा। इस कोष का इस्तेमाल भोजन और राशन प्रदान करने के अलावा लोगों को साफ सफाई के लिए सैनेटाइजर और साबुन भी दिया जाएगा।