बलौदाबाजार : जिला पंचायत के निर्देश पर बिहान समूह से जुड़ी महिला स्व सहायता समुहों के द्वारा घर में ही रंग बिरंगी राखियों का निर्माण कर रहीं हैं। पलारी विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम कोनारी में स्थित जय माँ अम्बे महिला स्व सहायता समूह के द्वारा अब तक 7 हज़ार राखियों का निर्माण हाथों से किया गया हैं। जिसमें से कल तक 5 हज़ार नग राखियां बिक गयी हैं। जिसकी बाज़ार मूल्य लगभग करीब 75 हज़ार रुपये हैं। समूह की अध्यक्ष श्रीमती छवि बाई धुव्र ने बताया कि हमारे समूह में कुल 12 लोग हैं। सभी लोग मिलकर जुलाई महीने के शुरू से ही राखियां बनाने का कार्य कर रहें हैं। अब तक हमने कुल 7 हज़ार राखियां बनाये हैं। हम लोग इसे बेचने के लिये गाँव मे ही  समूह के द्वारा दुकान भी खोला गया हैं। साथ ही कुछ सदस्यों द्वारा घर घर जाकर भी विक्रय किया गया हैं। गाँव वासियों द्वारा भी बडी सँख्या में इन राखियों को पसंद किया जा रहा हैं। इन राखियों के विक्रय से कोरोना संकट के समय में हम महिलाओं के लिये अतिरिक्त आय का जरिया बन गया हैं।

अन्य सामग्रियों का निर्माण* हमारे समूह द्वारा राखियों के अलावा मसाले,पापड़,आचार,सेनेटरी नैपकिन वाशिंग पाउडर, साबुन,अगरबत्ती, गोबर से बनें दिये, गोबर का अगरबत्ती भी बनाई जा रहीं हैं। इन सभी सामग्रियों के विक्रय से लगभग प्रति माह 70 हज़ार रुपये राशि प्राप्त होता हैं। जिसमें से लागत मूल्यों को हटाकर  मुनाफे को सभी महिला सदस्यों में बराबर बाट दी जाती हैं।

प्रभारी मंत्री एवं कलेक्टर ने किया तारीफ* विगत दिनों ग्राम टीला में गोधन न्याय योजना के शुभारंभ के दौरान राखियों के प्रदर्शनी के दौरान जिले के प्रभारी मंत्री टी एस सिंह देव एवं  कलेक्टर सुनील जैन ने राखियों को देखकर काफी तारीफ किये साथ ही प्रभारी मंत्री द्वारा 5 सौ रुपये का राखी भी महिला समुहों से खरीदा गया था।