भोपाल.अभी तक आपने किसानों (farmers) को टिड्डी दल से परेशान होते और आम जनता (public) को पुलिस (police) से खौफ खाते देखा होगा. लेकिन एक नजारा ऐसा भी सामने आया जिसमें टिड्डीदल ने पुलिस की नाक में दम कर दी.इनसे पीछा छुड़ाने के लिए जवानों को अपने ही विभाग से मदद मांगनी पड़ी. मदद के लिए डायल 100 (dial 100) की गाड़ी पहुंची और थाने के आसपास सायरन बजाकर टिड्डीदल को भगाया.

मामला शहडोल का है. शहडोल के थाना जयसिंह नगर में तैनात डायल-100 एफ़आरव्ही अपने नोडल पॉइंट पर खड़ी थी. उसी दौरान उसे अजब सूचना मिली. ये किसी आम इंसान का फोन नहीं था और न ही उसमें ऐसी किसी की मदद की अपील थी. बल्कि ये थाने से वायरलेस के ज़रिए सूचना आयी थी और खुद थाने का स्टाफ मदद मांग रहा था. थाने पर टिड्डी दल ने हमला बोल दिया था. पुलिस वाले इस टिड्डी दल से घिर गए थे. पुलिस स्टाफ थाने में कैद होकर रह गया. इसलिए स्टाफ ने डायल 100 से मदद मांगी कि वो जल्दी आए और टिड्डी दल को मार भगाए.

ऐसे भागा टिड्डी दल

सूचना मिलते ही डायल-100 एफ़आरव्ही स्टाफ आरक्षक राजेश सिंह  और पायलट जस कुमार तिवारी तत्काल मौके पर पहुंच गए.फुल वॉल्यूम में उन्होंने गाड़ी का सायरन बजाया और थाने के ग्राउंड में कई चक्कर लगाए. हूटर की तेज़ आवाज़ के आगे टिड्डी दल ठहर नहीं पाया और सिर पर पैर रखकर भाग खड़ा हुआ. डायल 100 की टीम को चक्कर लगाने पड़े तब कहीं जाकर ये टिड्डी भागे. 1 घंटे तक ये ड्रामा चलता रहा. हूटर की आवाज़ और पुलिस का ये नज़ारा देखने के लिए भीड़ लग गयी.

पूरे देश में आतंक

पाकिस्तान से आए इस टि्डडी दल ने पूरे देश में हमला बोल रखा है. गुजरात और राजस्थान के रास्ते देश में घुसा टिड्डी दल फसलों को चट कर रहा है. इससे निपटने के लिए किसान से लेकर सरकारी स्तर तक प्रयास किए जा रहे हैं.