सुप्रीम कोर्ट में आज बड़े फैसलों का दिन है. राफेल विमान सौदे, सबरीमाला विवाद पर दायर की गई पुनर्विचार याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुनाएगा. इसके अलावा सर्वोच्च अदालत आज पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अवमानना मामले पर भी निर्णय सुनाएगा. पिछले कुछ दिनों में सर्वोच्च अदालत अयोध्या विवाद, कर्नाटक विधायक विवाद और CJI ऑफिस में RTI के मसले पर फैसला सुना चुकी है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में पांच जजों की बेंच अपना फैसला पढ़ रही है. इस पीठ में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के अलावा जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस खानविलकर, जस्टिस नरीमन और जस्टिस इंदु मल्होत्रा शामिल हैं. भूमाता ब्रिगेड की प्रमुख तृप्ति देसाई ने सबरीमाला पर फैसले से पहले कहा कि अब समय आ गया है कि पुराने रिवाजों को बदला जाए. महिलाओं पर पाबंदी लगाना असंवैधानिक है, गलत परंपरा को जारी नहीं रख सकते हैं.  तृप्ति देसाई ने इससे पहले हाजी अली दरगाह, शनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के लिए आंदोलन किया है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले सबरीमाला मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. मंदिर परिसर के आसपास 10 हजार पुलिस जवानों की तैनाती की गई है. इसके साथ ही 16 नवंबर से मंडलम मकर विलक्कू उत्सव शुरू हो रहा है. दो महीने तक चलने वाले इस वार्षिक तीर्थयात्रा के लिए पांच स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है.


राहुल गांधी पर अवमानना का मामला
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर दायर किए गए अवमानना मामले में सर्वोच्च अदालत आज ही अपना फैसला सुनाएगी. लोकसभा चुनाव के दौरान जब सुप्रीम कोर्ट की ओर से राफेल विवाद पर फैसला आया था, तब राहुल गांधी ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है कि चौकीदार चोर है.
इसी के बाद बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दी थी और उनपर राजनीति में सुप्रीम कोर्ट का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था. आज सर्वोच्च अदालत इसी पर फैसला सुना रही है.


राफेल विमान सौदे पर सुप्रीम निर्णय

राफेल विमान सौदे पर सुप्रीम कोर्ट आज पुनर्विचार याचिका पर निर्णय सुनाएगा. केंद्र सरकार के द्वारा फ्रांस के साथ किए गए समझौते पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए थे, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी. जिसमें इस मामले की जांच, खरीदने की प्रक्रिया, PMO के दखल पर सवाल खड़े किए गए थे. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में केंद्र सरकार को राहत दी थी. इसी के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और वकील प्रशांत भूषण ने सर्वोच्च अदालत में पुनर्विचार याचिका दायर की गई थी. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एस.के. कौल, जस्टिस के.एम. जोसेफ की बेंच इस मामले में फैसला सुना रही है.


सबरीमाला मामले पर फैसला
केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर सर्वोच्च अदालत ने पिछले साल फैसला दिया था. अदालत ने 10 से 50 साल की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश की इजाजत दे दी थी, अदालत के इसी फैसले पर कई पुनर्विचार याचिकाएं दायर की गई हैं. आज SC कुल 65 याचिकाओं पर अपना निर्णय सुनाएगा, इनमें 56 पुनर्विचार याचिका, 4 नई याचिका और 5 ट्रांसफर याचिकाएं हैं.
इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस आर.एफ. नरीमन, जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस इंदु मल्होत्रा कर रहे हैं. पीठ ने 6 फरवरी को अपने फैसले को सुरक्षित रख लिया था.


सुप्रीम फैसलों का दिन
सुप्रीम कोर्ट में आज बड़े फैसलों का दिन है. राफेल विमान सौदे, सबरीमाला विवाद पर दायर की गई पुनर्विचार याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुनाएगा. इसके अलावा सर्वोच्च अदालत आज पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अवमानना मामले पर भी निर्णय सुनाएगा. पिछले कुछ दिनों में सर्वोच्च अदालत अयोध्या विवाद, कर्नाटक विधायक विवाद और CJI ऑफिस में RTI के मसले पर फैसला सुना चुकी है.