पटना, । मुजफ्फरपुर में 'चमकी' बुखार से बच्चों की हो रही मौत को लेकर राजद अध्यक्ष लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने नीतीश कुमार  पर जमकर हमला बोला है।

तेजप्रताप  ने ट्वीट कर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए लिखा है कि नीतीश बाबू हम राजनीति बाद में कर लेंगे, अभी इन मासूमों की जिंदगी ज्यादा जरूरी है। कुछ भी कीजिए इन बच्चों को बचा लीजिए।

तेजप्रताप यादव  ने ट्वीट किया, सुशासन बाबू, माना कि ये 5-10 वर्ष के मासूम बच्चे किसी दल के वोटर नहीं हैं लेकिन क्या इन सैकड़ो मासूमों की जान आपके सुशासन की जिम्मेदारी नहीं हैं? नीतीश बाबू हम राजनीति बाद में कर लेंगे अभी इन मासूमों की जिंदगी ज्यादा जरूरी है। कुछ भी कीजिए इन बच्चों को बचा लीजिए।
 सुशासन बाबू, माना कि ये 5-10 वर्ष के मासूम बच्चे किसी दल के वोटर नहीं हैं लेकिन क्या इन सैकड़ो मासूमों की जान आपके सुशासन की जिम्मेदारी नहीं हैं ? नीतीश बाबू हम राजनीति बाद में कर लेंगे अभी इन मासूमों की जिंदगी ज्यादा जरूरी है. कुछ भी कीजिए इन बच्चों को बचा लीजिए...

बता दें कि बिहार में एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम' एईएस से अब तक 100 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि 90 से ज़्यादा बच्चे अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं। मासूमों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है।

सवालों में घिरी राज्य सरकार के काम का जायजा लेने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन मुजफ्फरपुर पहुंचे। वहां उन्होंने अस्पताल जाकर बीमार बच्चों और उनके परिजनों से मुलाकात की। उनके साथ राज्य मंत्री अश्विनी चौबे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे भी मौजूद थे, लेकिन आज जब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अस्पताल का दौरा कर रहे थे तो उनके सामने भी दो बच्चों ने दम तोड़ दिया।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है।मुख्यमंत्री ने इस भयंकर बीमारी से मृत हुए बच्चों के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से शीघ्र ही चार-चार लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने के निर्देश दिए हैं।