भोपाल : प्रदेश में टिड्डी दलों के नियंत्रण के लिये लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। इस सिलसिले में जबलपुर, रीवा और ग्वालियर संभाग के जिलों में टिड्डी दलों पर नियंत्रण के लिये कीटनाशकों का छिड़काव किया गया।

पाँच जून शुक्रवार को जबलपुर संभाग के छिंदवाड़ा जिले के चौरई विकासखण्ड के जमुनिया एवं बगदरी ग्राम में एक टिड्डी दल, जिसका आकार लगभग 2 से 3 किलोमीटर का था, उस पर ट्रेक्टर-चलित स्प्रे-पम्प एवं 2 फायर ब्रिगेड द्वारा 40 लीटर कीटनाशकों का छिड़काव कर नियंत्रण की कार्यवाही की गई। जबलपुर संभाग के सिवनी जिले के पंजरा ग्राम में भी एक टिड्डी दल का रात्रिकालीन ठहराव हुआ, जिसके नियंत्रण के लिये 2 फायर ब्रिगेड के माध्यम से कीटनाशकों का छिड़काव कर नष्ट किया गया।

रीवा संभाग के सतना जिले के उचेहरा विकासखण्ड के पौठी, पतौरा, भरहुत एवं लगरगवा ग्राम में एक टिड्डी दल का रात्रि ठहराव पाया गया। इस पर नियंत्रण के लिये 3 फायर ब्रिगेड द्वारा रसायनों का छिड़काव किया गया। इसी प्रकार ग्वालियर संभाग के शिवपुरी विकासखण्ड के ख्याबदा कला एवं रामाबसई ग्राम में टिड्डी दल का रात्रिकालीन विश्राम हुआ, जिस पर नियंत्रण के लिये 3 ट्रेक्टर-चलित स्प्रे-पम्प एवं 3 फायर ब्रिगेड द्वारा 70 लीटर कीटनाशकों का छिड़काव किया गया।

प्रदेश के सभी जिलों को केन्द्रीय टिड्डी नियंत्रण दल के सम्पर्क में रहते हुए सतत निगरानी रखने एवं नियंत्रण के लिये अनुभाग स्तर पर आवश्यक संसाधनों को एकत्रित करने के लिये निर्देशित किया गया है।