मुंबई। सोमवार को सर्वसम्मति से शिवसेना की विधायक नीलम गोरहे को महाराष्ट्र विधान परिषद का उपसभापति चुन लिया गया. विधान परिषद के सभापति रामराजे निंबालकर ने इस पद पर गोरहे की नियुक्ति की घोषणा की. मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने सदन में कहा कि गोरहे ने समाजवादी संगठन युवक क्रांति दल से अपने कैरियर की शुरूआत की. वह दलित पैंथर में रहीं और बाद में शिवसेना में आ गईं. गोरहे ने इससे पूर्व 2015 में भी इस पद के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था लेकिन बाद में उन्होंने इसे वापस ले लिया था. बता दें कि नीलम गोरहे महाराष्ट्र विधान परिषद में यह पद संभालने वाली ऐसी दूसरी महिला हैं. उनसे पहले जे.टी.सिपाहीमलानी यह कार्यभार संभाल चुकी है. इस पद पर सिपाहीमलानी अगस्त 1955 में चुनी गईं थीं, उस समय इसे बॉम्बे विधान परिषद कहा जाता था.