बिलासपुर । सत्यनिष्ठा जीवन का अपरिहार्य अंग है, इस रास्ते पर चलने से मुश्किलें जरूर आती है, अगर हम उन मुसीबतों का सामना करके आगे बढ़ेंगे तो हम अपनी मंजिल तक जरूर पहुँचेंगे। ये विषय दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के जोनल कान्फ्रेंस हाल में आज आयोजित सेमीनार ‘सत्यनिष्ठा - एक जीवन शैली’ में मुख्य अतिथि रेलवे बोर्ड के अति. सदस्य (टूरिस्म एंड कैटरिंग), सुनील माथुर ने व्यक्त किया। जोनल कांफ्रेंस हाल में ‘सत्यनिष्ठा - एक जीवन शैली’ के विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें रेलवे बोर्ड के अति. सदस्य (टूरिस्म एंड कैटरिंग), सुनील माथुर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे एवं  विशिष्ट अतिथि के रूप में अपर महाप्रबंधक, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे प्रमोद कुमार उपस्थित थे। इससे पहले दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के वरि,उप महाप्रबंधक एवं मुख्य सतर्कता अधिकारी अमित कुमार सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए ‘वारेन बफेट’ को उद्घृत किया कि ‘किसी भी व्यक्ति में तीन गुण देखने चाहिए - बुद्धिमता, ऊर्जा एवं सत्यनिष्ठा। लेकिन यदि उसमें सत्यनिष्ठा नहीं है तो प्रथम दोनों कि परवाह नहीं करनी चाहिए। विशिष्ट अतिथि एवं अपर महाप्रबंधक, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, प्रमोद कुमार ने अपने संक्षिप्त अभिभाषण में स्वयं का हीरो बनने की अपील की। उन्होने बताया कि व्यक्ति अपने बारे में सर्वाधिक जानकारी रखता है, अत: ऐसा कार्य करे कि खुद की नजरों में गिरे नहीं। सचिव, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे हिमांशु जैन ने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की कार्यशैली, लक्ष्य प्राप्त करने की चुनौती, भविष्य की संभावनाएं आदि को सारगर्भित एवं प्रभावशाली ढंग से प्रस्तुत किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि सुनील माथुर, अति. सदस्य (टूरिस्म एंड कैटरिंग), रेलवे बोर्ड, विशिष्ट अतिथि प्रमोद कुमार, अपर महाप्रबंधक, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे एवं  दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य सतर्कता अधिकारी अमित कुमार सिंह के द्वारा सतर्कता बुलेटिन - 2019 के ई-संस्करण का विमोचन भी किया गया। इस अवसर पर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मुख्यालय के सभी विभागों के अधिकारियों सहित वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से तीनों मंडलो बिलासपुर, रायपुर एवं नागपुर के मंडल रेल प्रबंधक सहित अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित हुए।