1995 खनन मामले में भगा बारड को सुत्रापाडा कोर्ट ने दो वर्ष 9 महीने की सजा सुनाई थी. जिसके बाद गुजरात विधानसभा अध्यक्ष ने भगा बारड को विधायक पद से सस्पेंड कर दिया था.
गुजरात उपचुनाव में 3 सीटों पर मिली जीत के बाद अब कांग्रेस को एक और राहत देने वाली खबर मिली है. तलाला सीट से विधायक भगा बारड अपने पद पर बने रहेंगे. 1995 खनन मामले में भगा बारड को सुत्रापाडा कोर्ट ने दो वर्ष 9 महीने की सजा सुनाई थी. जिसके बाद गुजरात विधानसभा अध्यक्ष ने भगा बारड को  विधायक पद से सस्पेंड कर दिया था.

बारड के सस्पेंड किए जाने के बाद तलाला सीट पर उपचुनाव घोषित किया गया था. इसके खिलाफ भगा बारड हाई कोर्ट पहुंचे थे, लेकिन उनकी अर्जी खारिज कर दी गई थी.

इसके बाद भगा बारड सुप्रीम कोर्ट पहुंचे. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने तलाला सीट पर होने वाले उपचुनाव पर रोक लगा दी थी. इस दौरान भगा बारड ने निचली कोर्ट के फैसले को गुजरात हाई कोर्ट में चुनौती दी. गुजरात हाई कोर्ट ने निचली अदालत के फैसले पर रोक लगा दी. सजा पर रोक लगने के बाद गुजरात विधानसभा अध्यक्ष ने बुधवार को भगा बारड का निलंबन रद्द कर दिया.