शिक्षक की नौकरी तलाश रहे लोगों के लिए अच्छी खबर है। बिहार में करीब 40 हजार शिक्षकों की नियुक्ति होने वाली है। बिहार सरकार माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक, दोनों के लिए शिक्षकों की बहाली करने जा रही है। इस संबंध में राज्य शिक्षा विभाग ने शेड्यूल भी जारी कर दिया है। शिक्षा विभाग के उप-सचिव अरशद फिरोज ने 29 जुलाई तक सभी जिला परिषद एवं नगर निकाय नियोजन इकाईयों को खाली और अतिरिक्त पदों की अंतिम सूची तैयार करने का आदेश दिया है। इसके बाद अभ्यर्थियों से आवेदन मंगाए जाएंगे।सभी नियोजन इकाईयों को निर्देश दिया गया है कि वे वर्तमान में चल रही पांचवें चरण की नियोजन प्रक्रिया को पूरा करने के बाद छठे चरण की प्रक्रिया सुनिश्चित करें। 

किन विषयों के शिक्षकों के पद खाली
प्लस-टू स्कूलों में गणित, भौतिकी, रसायन शास्त्र, जन्तु विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, हिन्दी, अंग्रेजी, आर्ट विषयों के लिए शिक्षकों के पद खाली हैं। वहीं, माध्यमिक स्तर पर विज्ञान, अंग्रेजी, गणित के अलावा अन्य कई विषयों में शिक्षकों के पद खाली हैं।

इन विषयों के लिए भी होगी शिक्षकों की नियुक्ति
मुख्य विषयों के अलावा कंप्यूटर, संगीत, नृत्य, ललितकला, शारीरिक शिक्षा के लिए भी शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी।
बता दें कि इन विषयों में शिक्षक के पद पर नियुक्ति के लिए भी बीएड होना अनिवार्य है।

नियोजन प्रक्रिया में शामिल होने के लिए ये चाहिए योग्यता

 

  • अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष है।
  • दिव्यांग अभ्यर्थियों की अधिकतम उम्र सीमा में 10 वर्ष की छूट मिलेगी। 4 फीसदी आरक्षण का भी लाभ दिया जाएगा। 
  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थियों को 10 फीसदी आरक्षण का लाभ मिलेगा।
  • जो अभ्यर्थी इंजीनियरिंग से स्नातक, विज्ञान एवं गणित विशेषज्ञ, बीएड और एसटीईटी पास होंगे, वे गणित विषय में माध्यमिक शिक्षक के पद पर नियोजन प्रक्रिया में शामिल हो सकेंगे। 
  • वाणिज्य संकाय में उच्च माध्यमिक शिक्षक के पद के लिए एमकॉम और बीएड होना अनिवार्य है। सिर्फ एमबीए होना योग्यता पूरी नहीं करेगा।

ऐसा रहेगा नियोजन प्रक्रिया का पूरा शेड्यूल

 

शिक्षा विभाग के शेड्यूल के अनुसार, छठे चरण की नियोजन प्रक्रिया में खाली पदों के साथ विषयवार रोस्टर क्लीयर करना अनिवार्य है। इसके लिए 3 अगस्त को जिला स्तर पर नियोजन से जुड़े पदाधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। 6 अगस्त को जिला स्तर पर नियोजन से जुड़े अन्य कर्मचारियों का प्रशिक्षण होगा। फिर नियोजन इकाईयों को 9 अगस्त तक रोस्टर क्लीयर करने का काम पूरा करना है। 16 अगस्त तक क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक के स्तर से रोस्टर क्लीयर किया जाएगा।

  • 27 अगस्त से 26 सितंबर - नियोजन ईकाइयों में आवेदन जमा होंगे 
  • 27 सितंबर से 9 अक्टूबर - मेधा सूची की तैयारी
  • 14 अक्टूबर - औपबंधिक मेधा सूची का अनुमोदन
  • 19 अक्टूबर - औपबंधिक मेधा सूची का प्रकाशन
  • 21 अक्टूबर से 4 नवंबर - मेधा सूची पर आपत्ति कर सकेंगे
  • 11 नवंबर - आपत्तियों का निराकरण
  • 15 नवंबर - अंतिम मेधा सूची का प्रकाशन
  • 18 से 22 नवंबर - मेधा सूची के अभ्यर्थियों के मूल प्रमाण पत्रों की जांच व सत्यापन
  • 25 नवंबर - जिला परिषद व नगर निकाय द्वारा मेधा सूची का अनुमोदन
  • 26 नवंबर - नियोजन इकाई द्वारा मेधा सूची सार्वजनिक की जाएगी