नई दिल्ली । कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना महामारी के दौर में वेंटिलेटर और मास्क के निर्यात को लेकर मोदी सरकार पर हमला किया है।राहुल गांधी ने एक न्यूज रिपोर्ट को ट्वीट कर लिखा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सभी देशों से वेंटलेटर और सर्जिकल मास्कर का पर्याप्त स्टॉक रखने को कहा था। राहुल गांधी ने पीएम मोदी से पूछा कि डब्ल्यूएचओ की सलाह के बावजूद इन चीजों को 19 मार्च तक निर्यात की इजाजत क्यों दी गई। उन्होंने इस लापरवाही को खिलवाड़ करार देकर पूछा कि यह हुआ और क्या यह आपराधिक साजिश नहीं है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी इन्हीं आरोपों को दोहराते हुए पूछा कि कोरोना वायरस से निपटने में काम आने वाली सामग्रियों को निर्यात की इजाजत कैसे दी गई। उन्होंने कहा कि तमाम तरह के मास्क, वेंटिलेटर और मास्क बनाने में काम आने वाले रॉ टेक्स्टाइल मटीरियल्स को 19 मार्च तक निर्यात करने की इजाजत दी गई। जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस संकट को देखकर इनका स्टॉक बनाकर रखने को कहा था। सुरजेवाला ने ट्वीट में लिखा कि इन चीजों को निर्यात की अनुमति देना 'आपराधिक साजिश' थी।
सुरजेवाला ने इस मुद्दे पर एक के बाद एक कई ट्वीट किए। उन्होंने अपना विडियों भी ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री से इन सामग्रियों के निर्यात को लेकर सवाल पूछ रहे हैं। कांग्रेस प्रवक्ता ने एक ट्वीट में सरकार की तरफ से 19 मार्च को जारी एक नोटिफिकेशन को भी शेयर किया है, जिसमें मास्क, वेंटिलेटर और मास्क बनाने के कच्चे माल के निर्यात को प्रतिबंधित किया गया था। भारत में कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। देश की आधी से ज्यादा आबादी अभी लॉकडाउन में है। अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 415 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। 7 लोगों की मौत भी हो चुकी है।