नागरिकता कानून(सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर(एनपीआर) के खिलाफ रविवार को जाफराबाद में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच सीएए के समर्थन में भाजपा नेता कपिल मिश्रा मौजपुर में अपने समर्थकों के साथ सड़क पर उतर आए। इसके बाद शाम को मौजपुर इलाके में दो गुटों के बीच पथराव हुआ। पुलिस ने स्थिति पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले दागे।  
 पुलिस ने चांद बाग इलाके में हल्का बल प्रयोग किया। इसके बाद इलाके में शांति बनी हुई है, हालांकि लोग अब भी बैरिकेडिंग के पीछे ही बैठे हुए हैं। जानकारी के मुताबिक पथराव के दौरान कई मीडियाकर्मियों के साथ मारपीट की गई, जिसमें कई लोगों को गंभीर चोटें आई हैं।
 इससे पहले कपिल और उनके समर्थक मौजपुर मेट्रो स्टेशन के पास सीएए के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे थे कि भीम आर्मी समर्थकों के साथ उनका आमन-सामना हो गया। दोनों पक्षों के बीच नोक-झोंक से शुरू हुआ मामला मारपीट तक पहुंच गया। इस दौरान दोनों के समर्थकों ने एक दूसरे पर पथराव भी किया। इससे मौजपुर का माहौल गंभीर हो गया है। बता दें कि मौजपुर जाफराबाद के बाद अगला ही मेट्रो स्टेशन है।
 मौजपुर इलाके में जहां आज पहले दो समूहों के बीच पथराव हुआ था वहां भारी पुलिस बल तैनाती किया गया है। मौके पर मौजूद लोग जफराबाद के प्रदर्शनकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

आलोक कुमार, संयुक्त पुलिस आयुक्त (पूर्वी रेंज) ने कहा कि पुलिस पर पथराव भी किया गया, स्थिति को नियंत्रण में लाया गया है। पर्याप्त कर्मी तैनात किए गए हैं और फ्लैग मार्च किया जा रहा हैं। स्थिति अब नियंत्रण में है, लेकिन कई लोग सड़क पर हैं। हम स्थानीय नेताओं से लगातार बात कर रहे हैं ताकि क्षेत्र में शांति बनी रहे।

हिंसा के बाद दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने मौजपुर-बाबरपुर स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार एतिहातन बंद कर दिए हैं।

इससे पहले कपिल मिश्रा ने सोशल मीडिया पर अपने प्रदर्शन का जिक्र करते हुए लोगों को आमंत्रित किया और कहा था कि आज ठीक तीन बजे जाफराबाद के जवाब में, जाफराबाद के ठीक सामने, मौजपुर चौक की रेड लाइट पास सीएए के समर्थन में डंके की चोट पर हम लोग सड़क पर उतरेंगे। आप सभी आमंत्रित हैं।

इसके बाद अब भी महिलाएं जाफराबाद मेट्रो स्टेशन इलाके में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन में बैठी हुई हैं। सुरक्षा कारणों के चलते यहां पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

जसोला और सरिता विहार के लोग भी सडकों पर उतरे


जसोला और सरिता विहार के लोग भी आज शाहीन बाग में हो रहे प्रदर्शन के खिलाफ सडकों पर उतरे। नागरिकों की मांग है कि शाहीन बाग में हो रहे प्रदर्शन की वजह से जो भी सड़के बंद है, उन्हें  खोला जाए। जानकारी के मुताबिक शाहीन बाग का रास्ता खुलवाने के लिए सरिता विहार और जसोला के लोग सड़क पर बैठ गए हैं। यहां कई घंटों से रास्ता बंद है। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।