इन्दौर । कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव की अध्यक्षता में आज एआईसीटीएसएल सभाकक्ष में बीआरटीएस (बस रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम) के संबंध में समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि बीआरटीएस को राऊ तक सात कि.मी. और बढ़ाने की संभावनाओं पर विचार किया जाये। बीआरटीएस पर शीघ्र ही तीस नई बसें संचालित की जायेगी। अभी बीआरटीएस पर हर चार मिनट में यात्रियों को बस मिल रही है मगर तीस नई बसें चलने के बाद 11.4 कि.मी. लम्बे बीआरटीएस पर हर दो मिनट में बसें मिलेंगी। बीआरटीएस  योजना सफल और लाभप्रद रही है। इसे और अधिक उन्नयन की जरूरत है। बीआरटीएस सबसे ज्यादा यात्री भवरकुंआ और विजय नगर में मिलते हैं। इस रूट में पलासिया में नया  बस स्टॉप बनाने का प्रस्ताव है।
बैठक में निर्णय लिया गया कि बीआरटीएस पर फीडर के रूप में 18 स्थानों पर महिलाओं को ई-रिक्शा के लाइसेंस दिये जायेंगे, जिससे बीआरटीएस बसों में यात्रियों की संख्या बढ़ेगी। आगामी 18 नवम्बर को इन रूट पर महिला ई-रिक्शा का उद्घाटन किया जायेगा। ई-रिक्शा रूट तय कर लिये गये हैं। यह रूट ऑनलाइन भी हैं। इस रूट पर पैनिक बटन लगाने का प्रस्ताव है। इन ई-रिक्शा एक निश्चित रंग और मोनो दिये जाने का प्रस्ताव है।
बैठक में आयुक्त नगर निगम आशीष सिंह, सीईओ स्मार्ट सिटी श्रीमती अदिति गर्ग, एसपी पश्चिम सूरज वर्मा, सीईओ एआईसीटीएसएल संदीप सोनी, आरटीओ जितेन्द्र सिंह रघुवंशी आदि मौजूद थे।