नई दिल्ली । विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में रजत पदक विजेता पहले भारतीय बने अमित पंघल की नजरें अब 2020 टोक्यो ओलंपिक में प्रवेश हासिल करने पर लगी हैं। पंघल 52 किलोग्राम और मनीष कौशिक 63 किग्रा वर्ग से एशिया/ओसेनिया जोन क्वालीफायर्स में बेहतर प्रदर्शन कर ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना चाहेंगे। पंघल ने कहा कि अभी भी कुछ ऐसे क्षेत्र हैं, जिस पर उन्हें काम करने की जरूरत है। वह अब इंडियन बॉक्सिंग लीग में खेलने और अपने कौशल को बेहतर करने को लेकर उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, तैयारियां अच्छी चल रही है। मुक्केबाजी लीग में खेलकर मैं अधिक से अधिक अनुभव हासिल करना चाहूंगा। पंघल ने कहा कि विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में रियो ओलम्पिक-2016 में स्वर्ण जीतने वाले उज्बेकिस्तान के शाखोबिदीन जोइरोव से 0-5 से हार का सामना करने से साफ था कि उन्हें अपनी ताकत को बेहतर करने की जरूरत है। पंघल ने कहा, मुझे लगता है कि अभी मुझे अपनी ताकत पर और ज्यादा काम करने की जरूरत है। मैं पहले 48 किग्रा वर्ग में खेलता था। अब मैंने 52 किग्रा में खेलने का फैसला किया है। ऐसे में मुझे अब और ताकत की जरूरत है।