चेन्नई । भारत के अनुभवी टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस अपना आठवां ओलंपिक खेलना चाहते हैं। पेस ने कहा कि अगर अवसर मिलता है तो वह 2020 के टोक्यो ओलंपिक में खेलने उतरेंगे। पेस ने ऑस्ट्रेलियन ओपन 2020 के मीडिया लॉन्च के अवसर पर यह बात कही। 46 साल के पेस ने अपना पहला ओलंपिक 1992 में बार्सिलोना में 24 वर्ष की उम्र में खेला था। उनका आखिरी ओलंपिक 2016 में रियो ओलंपिक था। वह लगातार सात ओलंपिक खेलकर भारतीय रिकार्ड बना चुके हैं। यदि उन्हें टोक्यो के लिए मौका मिलता है तो वह दुनिया के 11वें ऐसे खिलाड़ी बन जाएंगे जिन्होंने आठ ओलंपिक खेले हैं। दुनिया में सर्वाधिक 10 ओलंपिक खेलने का रिकार्ड कनाडा के इयान मिलर के नाम है। दो खिलाड़ी ऐसे हैं जो नौ बार ओलंपिक खेल चुके हैं।वर्ष 1996 के अटलांटा ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले पेस ने कहा, मुझे ओलंपिक से जबर्दस्त लगाव है। मैंने हमेशा तिरंगे के लिए और अपने लोगों के लिए खेलने का सपना देखा है। मुझे जब भी देश के लिए खेलने को कहा जाएगा मैं हमेशा उसके लिए तैयार रहूंगा। पेस ने साथ ही कहा, मैं देश के लिए सबसे ज्यादा ओलंपिक खेलने का रिकार्ड बना चुका हूं और आठवां ओलंपिक एक अद्भुत रिकार्ड होगा।पेस इस समय विश्व युगल रैंकिंग में 91वें स्थान पर हैं और इस रैंकिंग के लिहाज से उनके लिए टोक्यो का टिकट मिलना बहुत मुश्किल है। विश्व रैंकिंग में उनसे ऊपर के खलाड़ियों में रोहन बोपन्ना 41वें और दिविज शरण 43वें स्थान पर हैं।पेस ने कहा है कि वह अगर अब भी एटीपी टूर में खेल रहे हैं तो इसका श्रेय मार्टिना नवरातिलोवा को जाता है जिन्होंने उन्हें फिटनेस के प्रति प्रेरित किया। अपने करियर में 18 एकल सहित 59 ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाली नवरातिलोवा ने अपने करियर के अंतिम दौर में पेस के साथ जोड़ी बनायी थी। पेस ने कहा, ‘‘नवरातिलोवा ने हमें सिखाया कि शारीरिक फिटनेस कितनी जरूरी है। नवरातिलोवा ने मुझे शारीरिक फिटनेस के महत्व को समझाया और यही वजह है कि मेरा करियर इतना लंबा खिंचा।