सफलता आसानी से नहीं मिलती। हर सक्सेसफुल स्टोरी के पीछे एक संघर्ष की कहानी छिपी होती है। नोरा फतेही बॉलीवुड की जानी-मीनी ऐक्ट्रेस हैं। उन्होंने उस वक्त को याद किया जब वह वेट्रेस थीं। उन्होंने बताया कि यह जॉब काफी कठिन थी। टीनेजर डेज में उन्होंने इसको साइड जॉब की तरह किया था। नोरा ने बताया था कि कनाडा में ऐसा कल्चर है कि वहां टीनेजर्स साइड जॉब करते हैं।

नोरा फतेही ने स्टार वर्सस फूड के दौरान बताया कि वह जब 16 साल की थीं तो कभी-कभी साइड मनी के लिए वेट्रेस की जॉब करती थीं। उन्होंने यह काम 16 से 18 साल की उम्र तक किया। अपनी जॉब की कठिनाइयों के बारे में नोरा बताती हैं, वेट्रेस होना बहुत मुश्किल है। आपके पास कम्युनिकेशन स्किल्स होनी चाहिए, पर्सनैलिटी होनी चाहिए, आपका फास्ट होना जरूरी है, साथ ही आपकी यादाश्त भी अच्छी होनी चाहिए। कभी-कभी कस्टमर्स बदतमीज होते है तो आपको उन्हें भी हैंडल करना आना चाहिए।

कनाडा में सब करते हैं काम 

लेकिन हां, यह साइड का काम था। ये साइड से पैसे कमाने का तरीका था। मुझे लगता है कि कनाडा में ऐसा कल्चर ही है। सबके पास जॉब होती है। आप स्कूल जाते हैं साथ में काम भी करते हैं।

नोरा खुद को फूडी बताती हैं। उन्होंने यह भी बताया कि अपना फिगर मेनटेन रखने के लिए क्या करती हैं। नोरा ने बताया, मैं ऐसे कल्चर से आती हूं जहां पतला होना अच्छा नहीं माना जाता। हमें फीमेल बॉडी में थिकनेस और कर्वीनेस पसंद आती है। मैं हमेशा कर्वी होने और वजन बढ़ाने की कोशिश में रहती हूं। ये हमारे कल्चर की मानसकिता है। इसलिए हम हमेशा खाते रहते हैं। उन्होंने बताया कि वह ब्रेकफास्ट और लंच भारी करती हैं।