वॉशिंगटन । अमेरिका के व्हाइट हाउस की जासूसी के आरोपों को इजराइल के राष्ट्रपति बेंजामिन नेतन्याहू नकार दिया है। मीडिया में आई उन खबरों को सिरे से खारिज किया है कि उनके देश ने व्हाइट हाउस के आसपास मोबाइल फोनों की जासूसी की। वहीं, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उन पर भरोसा जताया है। रूस की यात्रा पर नेतन्याहू ने गुरुवार को कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति कार्यालय के आसपास मोबाइल फोनों की कोई जासूसी नहीं की गई। उन्होंने अमेरिका के खिलाफ जासूसी करने से इनकार किया। उन्होंने कहा, ‘मुझे निर्देश है : अमेरिका में कोई खुफिया संपर्क नहीं है, कोई जासूसी नहीं। बिना किसी अपवाद के इसे सख्ती से लागू किया गया। यह पूरी तरह झूठ है।’ अमेरिकी अधिकारियों का मानना है कि कॉल्स और संदेशों का गुपचुप तरीके से पता लगाने के लिए की गई कथित जासूसी के पीछे इजराइल का हाथ है। अमेरिका के इतिहास में अपने आप को सबसे अधिक इजराइल समर्थक राष्ट्रपति बताने वाले ट्रंप ने व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा कि वह आरोपों पर यकीन नहीं करते हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि इजराइली हमारी जासूसी कर रहे हैं। इस पर यकीन करना मुश्किल होगा।’