भोपाल. लॉकडाउन (Lockdown 5.0) के बाद अब शिक्षा व्यवस्था भी फिर पटरी पर आने वाली है. मध्य प्रदेश में 12वीं बोर्ड की परीक्षा (Board Exam) 9 जून से शुरू होने जा रही है. इसे लेकर अब सरकार की ओर से सभी जरूरी दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं. सरकार के मुताबिक कक्षा 12वीं की परीक्षा में सर्दी, खांसी और हल्के बुखार वाले परीक्षार्थियों की परीक्षा न छूटे इसके लिए एमपी बोर्ड ने आइसोलेशन रूम (यानी रिजर्व रूम )बनाने की तैयारी की है. थर्मल स्क्रीनिंग के दौरान जिस भी परीक्षार्थी का टेंपरेचर(तापमान) तय मानकों से ज्यादा रहेगा उन्हें अलग से आइसोलेशन रूम में बैठाकर परीक्षा दिलवाई जाएगी. सरकार की मानें तो प्रदेश भर में हर परीक्षा केंद्र पर एक आइसोलेशन रूम तैयार करवाया जा रहा है.एमपी बोर्ड ने परीक्षार्थियों को यह भी निर्देश दिए हैं कि अगर उनके परिवार के किसी सदस्य को कोरोना है या फिर परिवार का कोई सदस्य क्वारंटाइन है तो ऐसे परीक्षार्थी कक्षा 12वीं की परीक्षा में शामिल नहीं हो सकेंगे. परीक्षा केंद्र में शामिल हो रहे परीक्षार्थियों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए एमपी बोर्ड ने ऐसे निर्देश दिए हैं.

कंटेनमेंट क्षेत्र के सभी परीक्षार्थी दे सकेंगे एग्जाम
एमपी बोर्ड ने कंटेंटमेंट क्षेत्र में रह रहे परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल होने की सुविधा दी है. एमपी बोर्ड ने परीक्षार्थियों से कहा है कि कंटेंनमेंट क्षेत्र के संबंध पुलिस थाना में प्रवेश पत्र दिखाकर परीक्षा केंद्र पर जाने की अनुमति मिल सकेगी. प्रदेश भर के सभी कंटेनमेंट एरिया में स्थित परीक्षा केंद्र को बदल दिया गया है. प्रदेश के 24 कंटेनमेंट क्षेत्र के परीक्षा केंद्र बदले गए हैं, इनमें सबसे ज्यादा कंटेनमेंट क्षेत्र में स्थित परीक्षा केंद्र इंदौर के हैं. भोपाल का सिर्फ एक परीक्षा केंद्र जहांगीराबाद कंटेनमेंट एरिया में स्थित है, जिसे दूसरी जगह शिफ्ट किया गया है.जहांगीराबाद क्षेत्र में लगातार कोरोना मरीजों के मिलने के चलते लॉकडाउन खुलने के बाद भी जहांगीराबाद क्षेत्र कंटेनमेंट एरिया में तब्दील है. ऐसे में इस क्षेत्र में स्थित परीक्षा केंद्र को न्यू टीटी नगर के  न्यू सुभाष स्कूल में शिफ्ट कर दिया गया है. जहांगीराबाद के सभी परीक्षार्थी अब टीटी नगर स्थित न्यू स्कूल परीक्षा केंद्र में परीक्षा में बैठेंगे.

साढ़े सात लाख से ज्यादा परीक्षार्थी दे रहे 12वी की परीक्षा
कक्षा बारहवीं के बाकी रह गई परीक्षाएं 9 जून से शुरू हो रही है जिसमें करीब साढ़े 7 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी प्रदेश भर में शामिल हो रहे हैं. 3657 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थी प्रदेश भर में परीक्षा में शामिल होंगे. कोरोना संक्रमण के दौरान परीक्षार्थियों के परीक्षा केंद्र में भी बदलाव किया गया है. मुख्य केंद्र को उप केंद्र में परिवर्तित किया गया है. वहीं जो छात्र मुख्य जिले को छोड़कर दूसरे जिले में है वहीं से परीक्षा में बैठने की सुविधा भी दी गई है. परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी. सैनिटाइजर का इस्तेमाल छात्र-छात्राओं को करना होगा. परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ परीक्षार्थी परीक्षा में बैठेंगे. छात्र चाहें तो अपने साथ सैनिटाइजर ले जा सकते हैं. वहीं हर परीक्षा केंद्र पर छात्रों और शिक्षकों के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था होगी.