पंजाब की जेलों में सजा भुगत रहे नशा तस्करों के खिलाफ Enforcement directorate (ED) Money laundering का केस दर्ज करेगी। फिर उनकी नशे की काली कमाई यानि Drug money से बनी प्रॉपर्टी जब्त की जाएगी। इसके लिए ED ने पंजाब सरकार की ओर से गठित Special task force, सभी जिलों के एसएसपी व पुलिस कमिश्नर, Narcotics control bureau व Directorate of Revenue Intelligence (DRI) को पत्र लिखकर अदालत द्वारा दोषी ठहराए गए नशा तस्करों की लिस्ट मांग ली है। इसमें उन सभी तस्करों को शामिल किया गया है जिनके खिलाफ NDPD Act के सेक्शन 15, 16, 17, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 25-ए, 27-ए व 29 के तहत केस दर्ज कर उन्हें सजा सुनाई गई है।

ED के सूत्रों के मुताबिक ऐसे तस्करों की संख्या दस हजार से ज्यादा है, जिनको नशा तस्करी के आरोप में कैद हुई है। इसलिए शुरुआत में बड़े तस्करों के खिलाफ ED कार्रवाई करेगी। उसके बाद सभी नशा तस्करों को इस दायरे में लाया जाएगा। यह कार्रवाई पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के 22 जनवरी को जारी उस आदेश के बाद की जा रही है, जिसमें ED को नशा तस्करी में कैद की सजा पाने वाले सभी अपराधियों के खिलाफ Money laundering का केस दर्ज करने को कहा गया था। हाईकोर्ट ने इसके लिए ED को तीन महीने का वक्त दिया है। ED अभी पुलिस से रिकॉर्ड मिलने का इंतजार कर रही है।

ED के जालंधर के सीनियर अफसर ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि जैसे-जैसे हमारे पास पुलिस व बाकी जांच एजेंसियों से लिस्ट आनी शुरू हो जाएंगी, नशा तस्करों पर Money laundering का केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर देंगे।

बैंक खातों, प्रॉपर्टी पर कार्रवाई


ED के मुताबिक इस मामले में Drug money से हवाला के जरिए कैश या जमीनी प्रॉपर्टी समेत दूसरी कमाई जांच के दायरे में होगी। पंजाब पुलिस से लिस्ट मिलने के बाद Money laundering का केस दर्ज कर ED इसकी पड़ताल शुरू कर देगी। Drug money से कमाई जिस भी रूप में होगी, अदालत की तरफ से दोषी ठहरा सजा सुनाए जाने की वजह से उसे जब्त कर लिया जाएगा। चूंकि हाईकोर्ट ने अपने ऑर्डर में इसका कोई मापदंड नहीं बताया है इसलिए बड़े Kingpin व तस्करी गैंग के सरगना से लेकर छोटे तस्करों पर ED की कार्रवाई की गाज गिरेगी।

ED अपनी जांच में पंजाब में नशे का कारोबार फैलाने के लिए Terror funding और नशा तस्करी में International link की भी गहनता से छानबीन करेगी। पुलिस कार्रवाई में जिन नशा तस्करों के साथ ऐसे तार जुड़े हुए हैं, उसकी ED विशेष जांच करेगी, क्योंकि यह न केवल बड़े तस्कर होंगे, बल्कि इसमें Money laundering का सीधा संबंध जुड़ेगा।