चेन्नई । लोकसभा चुनाव में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत के बाद तमिल सुपरस्टार रजनीकांत ने नरेंद्र मोदी को करिश्माई नेता कहा है। रजनीकांत ने बताया कि वह पीएम मोदी के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए 30 मई को दिल्ली में रहूंगा। वहीं लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए सहानुभूति जताते हुए कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का उनके साथ सहयोग नहीं किया। रजनीकांत ने यह भी कहा कि राहुल कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को हैंडल करने के लिए अभी काफी यंग हैं।
रजनीकांत ने कहा कि यह जीत मोदी की जीत है। उन्होंने कहा, भारत में इंदिरा गांधी और राजीव गांधी करिश्माई नेता थे। उनके बाद नरेंद्र मोदी आज के दौर के करिश्माई नेता हैं। रजनीकांत ने माना कि पूरे देश में इस वक्त मोदी लहर है। बता दें कि 30 मई को नरेंद्र मोदी दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं। शपथग्रहण समारोह में देश और विदेश से कई नामचीन हस्तियों भी शामिल होंगी। रजनीकांत ने भी कहा है कि वह शपथग्रहण समारोह का हिस्सा बनने वाले है। 
शपथ ग्रहण कार्यक्रम में रजनीकांत के साथ कमल हासन को आमंत्रित किए जाने की चर्चा है। रजनीकांत ने दिसंबर 2017 में राजनीति में आने के बारे में की गई घोषणा को अभी तक औपचारिक रूप नहीं दिया है। वहीं कांग्रेस में राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे के पेशकश के बाद मचे घमासान पर रजनीकांत ने कहा कि उन्हें इस्तीफा नहीं देना चाहिए। रजनीकांत ने कहा, 'राहुल को साबित करना चाहिए कि वह कर सकते हैं।' उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष को मजबूत होना चाहिए। रजनीकांत ने कहा, मुझे ऐसा लगता है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने मेहनत नहीं की और न ही राहुल के साथ कोऑर्डिनेशन किया।'