कोलकाता । कोरोना के बढ़ते खतरों को देखकर पश्चिम बंगाल की ममता सरकार भी पूरी तरह से सतर्क हो गई है। इस कड़ी में ममता ने सोमवार को प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कोलकाता एयरपोर्ट की सारी हवाई उड़ानों के संचालन को पूरी तरह से बंद करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कोरोना को नियंत्रित करने की प्रक्रिया को लेकर यह एक बड़ी बाधा है, जिसे पूरी तरह से बंद किया जाना चाहिए। 
ममता ने लिखा कि पूरा देश कोरोना महामारी की चपेट में है। केंद्र सरकार और राज्य सरकारें नागरिकों की सुरक्षा और वायरस के प्रसार को रोकने के लिए विभिन्न उपाय कर रही हैं। हम कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केंद्र सरकार के साथ हैं। बंगाल सरकार ने कोरोना संक्रमण के प्रभाव को रोकने के लिए और मौजूदा संकट का सामना करने के लिए कई सक्रिय कदम उठाए हैं। इसके लिए राज्य में स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को भी बेहतर किया गया है। ममता ने कहा कि सोमवार शाम 5 बजे से बड़े पैमाने पर बंगाल में 25 नगर निगम में लॉकडाउन करने का भी फैसला किया है। हमारे द्वारा सभी अंतरराज्यीय सार्वजनिक परिवहन को रोककर अंतर-राज्य के लोक परिवहन परिवहन को कम से कम कर दिया है। इसके अलावा रेलवे ने सभी ट्रेनों और मेट्रो सेवाओं को भी रोक दिया है। 
ममता ने कहा कि हालांकि इस बात से गंभीर रूप से चिंतित हैं कि भारत सरकार अभी भी उड़ानों के संचालन की अनुमति दे रही है, जिससे लॉकडाउन का एक बड़ा उल्लंघन हो रहा है। ममता कहा कि इसकारण बंगाल में आने वाली सभी उड़ानों को तत्काल प्रभाव से रोकने के लिए आवश्यक निर्देश जारी करने की व्यवस्था करें, ताकि संक्रमण फैलने का स्रोत प्रभावी रूप से निहित हो और राज्य में लॉकडाउन का सही तरह से इस्तेमाल हो सके।