ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने बताया है कि प्रदेश के सभी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलू, इंडस्ट्रियल पॉवर और गैर घरेलू उपभोक्ताओं के परिसर में आधुनिक मीटर लगाने का काम तेजी से पूरा किया जा रहा है। उन्होंने उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे मीटरीकरण अभियान को सफल बनाएं, जिससे वास्तविक बिजली खपत से अधिक फायदा मिल सके।

वास्तविक खपत से फायदे

इंदिरा गृह ज्योति योजना में प्रतिमाह 100 यूनिट बिजली सिर्फ 100 रूपये में मिलती है। योजना का लाभ 150 यूनिट तक की मासिक खपत पर ही मिलता है। गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाले अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के 100 वॉट लोड वाले उपभोक्ताओं को 30 यूनिट तक खपत पर मात्र 25 रूपये बिजली बिल देना होगा।

उपभोक्ताओं से अपील

ऊर्जा मंत्री ने उपभोक्ताओं से अपील की है किमीटर रीडिंग के समय अथवा बिल प्राप्त होने पर बिल में उल्लेखित रीडिंग एवं अपने मीटर की रीडिंग का मिलान कर लें। इसमें अधिक अंतर होने पर विद्युत वितरण कंपनी को तुरंत सूचना दें। मीटर बंद या खराब होने की सूचना भी तुरंत विद्युत वितरण कंपनी को दें। किसी कारणवश मीटर रीडिंग नहीं होने पर आप स्वयं पहल कर रीडिंग के आधार पर संबंधित बिजली कार्यालय से अपना बिल प्राप्त करें। विद्युत मीटर से छेड़छाड़ की घटना होने पर उसकी जानकारी तुरंत बिजली कंपनी को दें। यदि कोई व्यक्ति मीटर रीडिंग में कमी लाने का प्रलोभन देते हुए राशि की मांग करता है, तो उसकी जानकारी तत्काल बिजली कंपनी को दें।