छत्तीसगढ़ के राज्य आयुक्त दिव्यांगजन श्री प्रसन्ना आर ने दिव्यांग कल्याण की सभी शासकीय एवं अशासकीय संस्थाओं के अधीक्षकों को पत्र लिखकर विद्यार्थियों को ऑनलाईन पढ़ाई कराने के निर्देश दिए हैं। दिव्यांग बच्चों के अध्ययन कार्य में किसी प्रकार की कोई बाधा उत्पन्न न हो तथा अध्ययन कार्य सुचारू रूप से चल सके इसके लिए संस्था प्रमुखों को शिक्षकों की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए गए हैं।
    राज्य में नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए दिव्यांग कल्याण की सभी शासकीय एवं अशासकीय संस्थाओं में अध्ययनरत विद्यार्थी वर्तमान में अपने घर में है और संस्थाओं में अध्ययन-अध्यापन कार्य स्थगित है। ऐसी परिस्थिति में विद्यार्थियों के  अध्यापन-पठन कार्य का नुकसान न हो, इसके लिए संस्था के शिक्षकों द्वारा कक्षानुसार वाट्सएप, सामान्य कॉल, वीडियो चैटिंग के माध्यम से विद्यार्थियों के मार्गदर्शन के लिए कहा गया है। जिससे घर पर ही बच्चों के अध्ययन और पठन कार्य में सहयोग हो सके।