मुम्बई । भारत को पहली बार विश्वकप दिलाने वाले महान ऑलराउंडर कपिल देव ने अपने पुराने दिनों को याद करते हुए कहा है कि जब वह पहली बार कप्तान बने थे तब उन्हें डर भी लगा था। 
कपिल ने कहा, 'कई बार आपको समय से पहले चीजें मिल जाती हैं और बाद में आपको इसका अहसास होता है। मैं 23 साल का था जब मुझे कप्तान बनाया गया। इसलिए मैं डरा हुआ था और साथ ही खुश भी था। मैं सोच रहा था कि मैं सीनियर खिलाड़ियों को कैसे संभालूंगा। साथ ही खुशी इस बात की थी कि चयनकर्ता यह सोचते थे कि मुझमें कप्तान बनने की योग्यता है।' उन्होंने कहा, 'मुझे थोड़ा सा अजीब लग रहा था कि क्योंकि मैं अचानक कप्तान बन गया था और मेरे हीरो मेरे अंडर खेल रहे थे। यह मेरे लिए कठिन समय था तब मैंने सिर्फ एक चीज सोची कि मैदान पर मैं कप्तान हूं लेकिन मैदान के बाहर वे सब मेरे कप्तान थे।' अभिनेता रणवीर सिंह आने वाली फिल्म '83' में कपिल देव की भूमिका निभा रहे हैं। कपिल से जब फिल्म के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह फिल्म उनके बारे में नहीं बल्कि 1983 विश्व कप ट्रोफी जीतने वाली टीम के बारे में है। कपिल ने कहा, 'यह फिल्म मेरे बारे में नहीं है। यह फिल्म उस टीम के बारे में है जिसने 1983 का विश्व कप जीता था। हां, मैं खुशकिस्मत हूं कि रणवीर जैसा अभिनेता मेरी भूमिका निभा रहा है।'