नई दिल्ली । समाजवादी पार्टी (सपा) सांसद जया बच्चन सोमवार को राज्यसभा में केंद्र सरकार पर जमकर गरजी। राज्यसभा में अपने खिलाफ की गई एक ‘निजी टिप्पणी’ से गुस्से में आई जया बच्चन ने कहा सत्ताधारी दल के सदस्यों को अभिशाप लगेगा। उन्होंने कहा कि जल्दी ही उनके ‘बुरे दिन’ आने वाले हैं।
जया बच्चन अपने इस बयान की वजह से सुर्खियों में हैं। सोशल मीडिया पर उनका वीडियो शेयर किया जा रहा है इसके साथ ही यूजर्स भी उनके गुस्से और श्राप देने की आलोचना कर रहे है। सोशल मीडिया यूजर्स ने उनकी प्रतिक्रिया को उनकी बहू और अभिनेत्री ऐश्वर्या रॉय बच्चन को दिल्ली बुलाकर ईडी से पूछताछ करने से भी जोड़ा।
सोशल मीडिया पर एक यूजर ने लिखा ऐश्वर्या राय से सवाल करने से राज्यसभा में हंगामा हो जाता है, क्योंकि जया बच्चन (ऐश्वर्या की सास) राज्यसभा में आपा खो बैठती हैं। ऐसा लगता है कि पनामा पेपर लीक मामले में ऐश्वर्या रॉय बच्चन से पूछताछ करने से पहले ईडी को समाजवादी पार्टी से अनुमति लेनी चाहिए।
एक अन्य यूजर ने लिखा ऐसा अहंकार! जया बच्चन पूरी तरह से उन्मादी हो रही हैं और नारकोटिक बिल को छोड़कर कुछ भी बोल रही हैं और फिर सभी मर्यादा की रेखा को पार करती हैं और श्राप देती हैं। वहीं एक और यूजर गौरव मिश्रा ने लिखा तो जया बच्चन की बहू से ईडी अगर पूछताछ करे तो 'थाली में छेद' पागल हो जाता है, अहंकार चरम पर है। श्राप, ऐसा कौन करता है?
दरअसल, सोमवार को जया बच्चन ने 12 विपक्षी सदस्यों के निलंबन का मुद्दा उठाना चाहा और पीठासीन अध्यक्ष भुवनेश्वर कालिता का नाम लिए बिना उनके बारे में कोई परोक्ष टिप्पणी की। गुस्साई जया बच्चन ने आसन से कहा कि उन्हें निष्पक्ष होना चाहिए। उन्होंने विपक्ष की आवाज को दबाए जाने का आरोप भी लगाया। हंगामे के बीच ही उन्होंने आरोप लगाया कि उनके खिलाफ किसी सदस्य ने निजी टिप्पणी की है और इस मुद्दे पर उन्होंने आसन का संरक्षण मांगा। जया बच्चन ने कहा कि वह कैसे सदन में निजी टिप्पणी कर सकते हैं, आप लोगों के बुरे दिन आएंगे। मैं श्राप देती हूं। वहीं, श्राप दिए जाने पर गुजरात से भाजपा के राज्यसभा सदस्य जुगल ठाकोर ने कहा अभी उनके बुरे दिन चल रहे हैं इसलिए वह बौखला गई हैं, उन्होंने जया बच्चन से माफी मांगने से भी इनकार कर दिया।