नई दिल्ली,वायुसेना में हाल में शामिल किए गए लड़ाकू हेलिकॉप्टर अपाचे और परिवहन हेलिकॉप्टर चिनूक को इस वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर फ्लाईपास्ट में पहली बार शामिल करने का फैसला किया है। वायुसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को बताया कि चिनूक के प्रदर्शन में तीन नए परिवहन हेलिकॉप्टर ‘विक फॉर्मेशन’ में होंगे। इस तरह के प्रदर्शन में एक हेलिकॉप्टर आगे की ओर और बाकी दो उसके इर्द-गिर्द थोड़ा पीछे की ओर होते हैं।

अधिकारी ने बताया कि इसके बाद अपाचे के प्रदर्शन में वायुसेना के नए लड़ाकू हेलिकॉप्टरों को देखा जा सकेगा। पांच लड़ाकू हेलिकॉप्टर तीर जैसा ‘ऐरोहेड फॉर्मेशन’ बनाएंगे। गणतंत्र दिवस समारोह की परेड में वायुसेना की झांकी भी होगी जिसमें राफेल लड़ाकू विमान, स्वदेश में विकसित हल्के लड़ाकू विमान तेजस, हल्के लड़ाकू हेलिकॉप्टर और सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें आकाश और अस्त्र को प्रदर्शित किया जाएगा।

दिल्ली एयरपोर्ट से 900 उड़ानों पर पड़ेगा असर
बता दें कि 26 जनवरी की परेड के दौरान होने वाले एयर शो को लेकर वायुसेना ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके चलते दिल्ली एयरपोर्ट से आने-जाने वाली 900 से अधिक डोमेस्टिक और इंटरनैशनल फ्लाइटों पर असर पड़ेगा। आईजीआई एयरपोर्ट के तीनों टर्मिनलों पर 18 जनवरी, 20 से 24 जनवरी और 26 जनवरी को सुबह 10:35 बजे से दोपहर 12:15 बजे तक ना तो कोई फ्लाइट लैंड कर पाएगी और ना ही टेक ऑफ। इस दौरान तीनों रनवे पूरी तरह से शटडाउन रहेंगे। 26 जनवरी से पहले एयरफोर्स अपनी तैयारी करेगी और 26 जनवरी को राजपथ पर फ्लाईपास्ट किया जाएगा।