राजनैतिक विद्वेष के कारण की गयी आनन- फानन कार्यवाही.

अनूपपुर / भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं अनूपपुर के पूर्व विधायक रामलाल रॊतेल ने १६ जुलाई, मंगलवार  को जमुना कोलियरी निवासी ८० वर्षीय बुजुर्ग दंपत्ति का घर गिराये जाने की घटना पर गहरा क्षोभ प्रकट किया है। श्री रॊतेल ने कहा कि यह दुखद तथा निन्दनीय है कि कांग्रेसी राजनैतिक दबाव मे न्यायालय के आदेश की आड मे भरे बारिश मे आनन- फानन भारी पुलिस बल लगा कर घर तोड दिया गया। एक ओर प्रधानमंत्री प्रत्येक व्यक्ति के सिर पर छत देने की योजना पर कार्य कर रहे हैं तो दूसरी ओर सेवानिवृत्त ८० वर्षीय बुजुर्ग दंपत्ति का घर तोड दिया जाता है।  मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री आदरणीय शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री रहते हुए जमुना कोलियरी में घोषणा की थी कि किसी को भी बेघर नही किया जाएगा। लेकिन कांग्रेस की कमलनाथ सरकार आते ही लोगों को बेघर करने की साजिश होने लगी है। आरोप लगाया गया है कि  राजनीतिक विद्वेष के कारण न.पा.प. पसान के वार्ड ०६ जमुना कोलियरी, अनूपपुर में निवासरत बुजुर्ग सपेन्द्र जायसवाल ,उम्र ८० वर्ष SECL से सन २००० में सेवानिवृत्त हुए थे। 
   अन्य सैकडों लोगों की तरह उन्होने भी पसान में अपना घर   बना लिया।  जीवन के लगभग ५७ वर्ष उन्होने यहाँ नॊकरी की  थी।   अपनो के बीच रहकर जीवन जीना चाहते थे । लेकिन राजनीतिक साजिश के तहत उनके उस आशियाने को कल १६ जुलाई मंगलवार को ढहा दिया गया। स्थानीय लोगों की मानें यो  जमुना कोतमा क्षेत्र के कोलियरी प्रशासन , एक क्रमिक संघ नेता एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को खुश करने के लिए बुजुर्ग दंपत्ति के २० वर्ष पुराने घर को पुलिस दल बल के साथ जबरिया गिरा दिया गया ।


समाजसेवी युवक संतोष सिंह परमार ने सोशल मीडिया पर अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा है कि  कोलियरी के एक खास यूनियन नेता द्वारा वर्षों से बसे अलग-अलग प्रान्त वालों को बाहरी बताकर अनूपपुर के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता के इशारे पर पूरी कार्यवाही की गयी।

न्यायालय ने अपने आदेश मे कहीं नहीं लिखा कि बारिश मे किसी बुजुर्ग का मकान गिरा दो‌। अदालती आदेश का सम्मान हम सभी करते हैं। लेकिन आदेश का पालन अभी तक ना किया जाना तथा बरसात मे  त्वरित कार्यवाही राजनैतिक साजिश के आरोपों की पुष्टि करता है। ८० साल के सपेन्द्र जायसवाल वरिष्ठ भाजपा नेता लालबहादुर जायसवाल के पिता हैं। आरोप लगाया गया है कि सिर्फ एक व्यक्ति को इसीलिये टारगेट किया गया है क्योंकि वे भाजपा नेता के पिता हैं।