भारत की जीएस लक्ष्मी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) मैच की पहली महिला रेफरी बन गई हैं। अब वे तुरंत प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय मैचों में अपनी सेवाएं दे सकती हैं। बीते हफ्ते ही आइसीसी ने आइसीसी पुरुष टी-20 वर्ल्ड कप क्वालिफायर 2019 के लीग चरण के लिए मैच अधिकारियों की सूची की घोषणा की। इसमें जीएस लक्ष्मी के साथ न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान जेफ क्रो भी शामिल किया गया है। लक्ष्मी अबू धाबी के जायद स्टेडियम में हांगकांग और आयरलैंड के बीच होने वाले मैच में रेफरी की भूमिका निभाएंगी।
लक्ष्मी ने कहा, आइसीसी के अंतरराष्ट्रीय पैनल में चुना जाना मेरे लिए बहुत बड़ा सम्मान है क्योंकि इससे मेरे लिए नए दरवाजे खुलेंगे। भारत में एक क्रिकेटर और मैच रेफरी के रूप में मेरा लंबा करिअर रहा है। उम्मीद है कि मैं एक खिलाड़ी और मैच अधिकारी के रूप में अपने अनुभव का अंतरराष्ट्रीय सर्किट में अच्छा उपयोग करूंगी।’
लक्ष्मी ने इसके लिए आईसीसी और बीसीसीआई के अधिकारियों सहित अपने उन सभी दोस्तों और परिवार के सदस्यों को भी धन्यवाद दिया जिन्होंने हमेशा उनका मनोबल बढ़ाया। उन्होंने कहा कि मुझे भरोसा है कि मैं सभी की उम्मीदों पर खरा उतरूंगी और अपनी क्षमता के अनुसार बेहतर प्रदर्शन दूंगी। वहीं आइसीसी के अंपायरों और रेफरी विभाग के सीनियर मैनेजर एड्रियन ग्रिफिथ ने कहा, ‘हम लक्ष्मी और इलोइस का अपने पैनल में स्वागत करते हैं जो कि महिला अधिकारियों को बढ़ावा देने की हमारी प्रतिबद्धता की तरफ बढ़ाया गया महत्त्वपूर्ण कदम है। उनकी प्रगति देखकर अच्छा लगता है और मुझे पूरा विश्वास है कि अधिक से अधिक महिलाएं उनका अनुसरण करेंगी।’
मूल रूप से आंध्र प्रदेश की 51 साल की जीएस लक्ष्मी का पूरा नाम सर्व लक्ष्मी है। वे भारतीय क्रिकेट मैच रेफरी और एक पूर्व घरेलू क्रिकेट खिलाड़ी और कोच हैं। वे दाएं हाथ की बल्लेबाज और दाएं हाथ की तेज मध्यम आउटस्विंग गेंदबाज रही हैं। उनकी परवरिश जमशेदपुर में हुईं जहां उनके पिता नौकरी करते थे। लक्ष्मी ने टाटा नगर में क्रिकेट खेलना शुरू किया। स्पोर्ट्स कोटा के तहत उनका दाखिला जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में हुआ जहां उनकी तेज गेंदबाजी को काफी सराहा गया। 1989 में वे हैदराबाद चली गईं और दक्षिण मध्य रेलवे में नौकरी करने लगीं। बाद में दक्षिण मध्य रेलवे क्रिकेट टीम के लिए खेलना शुरू किया। लक्ष्मी ने 1989 और 2004 के बीच आंध्र महिला, बिहार महिला, रेलवे महिला, पूर्वी क्षेत्र महिला और दक्षिण क्षेत्र महिला सहित कई घरेलू टीमों के लिए खेला।
2008-2009 में पहली बार घरेलू महिला क्रिकेट में मैच रेफरी की भूमिका निभाई थी। वे महिला क्रिकेट से जुड़े एक अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय और तीन अंतरराष्ट्रीय टी-20 मुकाबलों में मैच रेफरी की भूमिका निभा चुकी हैं। इसी साल मई में इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने जीएस लक्ष्मी को अपने मैच रेफरी के इंटरनेशनल पैनल में जगह दी थी। वे इस पैनल में जगह पाने वाली पहली महिला बनी थीं। 2008-2009 में पहली बार घरेलू महिला क्रिकेट में मैच रेफरी की भूमिका निभाई थी। वे महिला क्रिकेट से जुड़े एक अंतरराष्ट्रीय वनडे और तीन अंतरराष्ट्रीय टी-20 मुकाबलों में मैच रेफरी की भूमिका निभा चुकी हैं। इसी साल मई में इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने लक्ष्मी को अपने मैच रेफरी के इंटरनेशनल पैनल में जगह दी थी। वे इस पैनल में जगह पाने वाली पहली महिला बनी थीं।