अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री आरिफ अकील ने इज्तिमा की तैयारी की बैठक में कहा है कि इज्तिमा कमेटी दिल तोड़ने का नहीं, दिल जोड़ने का काम करती है। उन्होंने बताया कि इज्तिमा स्थल के आसपास की उसी भूमि का उपयोग किया जा रहा है, जिसे लोगों ने स्वेच्छा से दिया है। यहाँ इज्तिमा के लिये किसी के भी मकान तोड़ने अथवा किसी की प्रापर्टी पर कब्जा करने का काम नहीं किया जा रहा है। श्री आरिफ अकील ने कहा कि कमेटी कोई नियम अथवा प्लॉट नहीं तोड़ेगी। उन्होंने गलत अफवाह फैलाने वाले असामाजिक तत्वों के खिलाफ जिला प्रशासन को एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिये।

श्री आरिफ अकील ने निर्देश दिये कि 22 से 25 नवम्बर तक होने वाले 72वें इज्तिमा के लिये चल रहे शेष काम तत्काल पूरा करें। उन्होंने हिदायत दी कि सारे काम मुख्यमंत्री को अवगत कराने के पहले पूरे हों। श्री अकील ने इज्तिमा कमेटी से कहा कि सब कमेटी बनाकर अलग-अलग कामों की पूरी जानकारी इकट्ठा करें। उन्होंने सड़क पेच वर्क के लिये 10 नवम्बर अंतिम तारीख तय की।

मंत्री श्री आरिफ अकील ने कहा कि इज्तिमा स्थल पर स्वास्थ्य, पुलिस, पेयजल, बिजली आदि की व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखी जाये। उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों को हिदायत दी कि इज्तिमा के दौरान निर्बाध रूप से बिजली आपूर्ति की जाये। बैठक में बताया गया कि इज्तिमा स्थल पर 25 टेलीफोन कनेक्शन होंगे। इनमें नेट, एसटीडी-आईएसडी सहित फैक्स सुविधा भी उपलब्ध होगी। श्री आरिफ अकील ने पार्किंग स्थल तक पहुँच मार्ग बनवाने के निर्देश दिये।

श्री आरिफ अकील ने अधिकारियों एवं नागरिकों से भी सुझाव माँगे। बैठक में संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव, पुलिस महानिरीक्षक श्री आदर्श कटियार, पुलिस उप महानिरीक्षकश्री इरशाद वली और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सतीश कुमार एस. उपस्थित थे।