सर्दियां शुरू होते ही लोगों के बीच में कई सारी एक्टिविटी शुरू हो जाती हैं। कुछ लोग ऐसे मौसम में घर के अंदर अपने परिवार के साथ बैठकर स्वादिष्ट और हेल्दी डिशेज का आनंद लेते हैं, तो कई सारे लोग ऐसे भी होते हैं जो अपने दोस्तों के साथ सर्दियों में कई जगहों पर घूमने का प्लान बनाते हैं। अगर आप भी इन लोगों में से एक हैं, तो इस साल सर्दियों की छुटियों के लिए आप औली जाने का अपना बेहतरीन ट्रिप प्लान कर सकते हैं। औली भारत के उत्तराखंड में बर्फ से ढंका हुआ एक बेहद खूबसूरत हिल स्टेशन है। जहां पर कई सारे लोग अक्सर सर्दियों के मौसम में विंटर वेकेशन और एडवेंचर्स ट्रिप्स के लिए जाते हैं। ऐसे में आप अपने दोस्तों संग औली घूमने का प्लान बना सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि औली में आप किन-किन जगहों पर अपने विंटर वेकेशन का शानदार आनंद ले सकते हैं...

क्वानी बुग्याल    औली के ट्रिप के दौरान आप क्वानी बुग्याल जा सकते हैं। ये औली का एक सबसे फेमस ट्रेकिंग पॉइंट है, जो गुरसो बुग्याल से महज 12 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। क्वानी बुग्याल चारों ओर से नंदा देवी और दूनागिरि पहाड़ियों से घिरा हुआ है, जो सर्दियों में बर्फ से ढंका रहता है। जहां पर आप अच्छे से स्नोफॉल का भी आनंद ले सकते हैं।

गुरसो बुग्याल    औली में ही दूसरी सबसे खूबसूरत जगह गुरसो बुग्याल है। इस खूबसूरत जगह से आपको उत्तराखंड की तीनों प्रमुख पर्वत श्रृंखलाओं, नंदा देवी, द्रोण और त्रिशूल का शानदार दृश्य दिखाई देता है। साथ ही इसी खूबसूरती को चार चांद लगाने के लिए यहां पर एक बहुत बड़ा घास का मैदान है, जो ओक और देवदार जैसे पेड़ों से सुशोभित है। ये जगह औली से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। साथ ही यहां पर 1 किलोमीटर की दूरी पर छत्तरकुण्ड भी स्थित है।

औली की फेमस आर्टिफिशियल लेक    औली में मानव निर्मित सबसे बड़ी झील भी है, जिसे आर्टिफिशियल लेक के नाम से जाना जाता है। इसका निर्माण साल 2010 में किया गया था। इस लेक के पानी का इस्तेमाल कृत्रिम बर्फ बनाने में किया जाता है। यहां पर आप स्नोबोर्डिंग और स्कीइंग का आनंद ले सकते हैं।

स्की    औली में अगर आप एक साथ कई सारी पर्वत श्रृंखलाओं के साथ स्कीइंग और स्नोबॉर्डिंग का आनंद लेना है, तो आपके लिए स्की सबसे बेस्ट जगह है। ये खूबसूरत स्थान नंदा देवी पर्वत, माना पर्वत, दूनागिरी, नीलकंठ, हाथी पर्वत, गोरी पर्वत और नर पर्वत जैसी 7 पहाड़ियों से घिरा हुआ है। इसके अलावा आप जोशीमठ या ज्योति मठों भी जा सकते हैं। 18वीं शताब्दी में आदिगुरु शंकराचार्य द्वारा स्थापित हिन्दूओं का ये फेमस तीर्थ है, जो औली में ही स्थित हैं। ये चार ज्योति मठोंमें से एक है, जो काफी ज्यादा प्रसिद्ध है।