शिवसेना सांसद संजय राउत ने तंज कसते हुए कहा कि अगर राहुल गांधी जम्मू-कश्मीर घूमने जाना चाहते हैं, तो हम पर्यटन विभाग से उनके लिए व्यवस्था करने की अपील करेंगे. राहुल गांधी को श्रीनगर एयरपोर्ट से इसलिए वापस भेजा गया, क्योंकि वहां हालात खराब हो सकते थे.
राहुल गांधी को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस लौटाए जाने के जम्मू-कश्मीर प्रशासन के कदम का शिवसेना सांसद संजय राउत ने खुलकर बचाव किया है. संजय राउत ने तंज कसते हुए कहा कि अगर राहुल गांधी जम्मू-कश्मीर मौज मस्ती करने जाना चाहते हैं, तो हम पर्यटन विभाग से उनके लिए व्यवस्था करने की अपील करेंगे. राहुल गांधी को श्रीनगर एयरपोर्ट से इसलिए वापस भेजा गया, क्योंकि वहां हालात खराब हो सकते थे.

आपको बता दें कि शनिवार को राहुल गांधी के नेतृत्व में विपक्षी दलों के नेताओं का प्रतिनिधिमंडल जम्मू-कश्मीर गया था, लेकिन उनको श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस दिल्ली भेज दिया गया था. इस प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस, सीपीआई, डीएमके, आरजेडी, टीएमसी, एनसीपी और जेडीएस के नेता शामिल थे. ये नेता अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर के जमीनी हालात की हकीकत जानने के लिए गए थे.

राहुल गांधी के अलावा गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, सीताराम येचुरी, शरद यादव, मनोज झा, मजीद मेमन, तिरचि शिवा और डी राजा प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे. शनिवार को यह प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली से श्रीनगर पहुंचा था. दिल्ली से श्रीनगर को रवाना होने से पहले इन नेताओं ने जोर देकर कहा कि हम जम्मू-कश्मीर के जमीनी हालात का आंकलन करने जा रहे हैं. हम वहां किसी तरह का बवाल करने नहीं जा रहे हैं.

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के मोदी सरकार के फैसले का जिक्र करते हुए संजय राउत ने कहा, 'मैं यह नहीं कहूंगा कि अनुच्छेद 370 को हटाए जाने से वो सपने पूरे होंगे, लेकिन मैं इतना निश्चित रूप से कह सकता हूं कि पूरा देश चाहता था कि इस अनुच्छेद को हटाया जाए. मैं अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला लेने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का शुक्रिया अदा करता हूं.'