दुर्ग । नर्स द्वारा जहरीला इंजेक्शन लगाकर आत्महत्या किए जाने के मामले में पुलिस द्वारा उसके पति के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर उसे न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसको जेल भेज दिया गया। लगभग एक माह तक की गई मामले की विवेचना में पति द्वारा मृतका के चरित्र पर लांछन लगा कर उसे प्रताडि़त किए जाने का खुलासा हुआ है। पुलिस ने पति के खिलाफ 306 का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।
मिली जानकारी के अनुसार पेशे से नर्स चंद्रिका साहू ने 28 जनवरी को जिला अस्पताल में संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। नर्स से आत्महत्या की नियत से स्वयं को जहरीला इंजेक्शन लगा लिया था। इस मामले की विवेचना पुलिस ने प्रारंभ की थी। पड़ताल में सामने आया कि चन्द्रिका साहू की शादी बघेरा निवासी रवि साहू के साथ सामाजिक रिति रिवाज के साथ हुी थी। शादी के कुछ महिने बाद ही मृतका पर किसी अन्य पुरुष से संबंध होने का आरोप लगाकर पति रवि साहू शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताडित करने लगा था। इसी दौरान चंद्रिका के गर्भवती होने पर वह इस गर्भ को अपना माने से इंकार कर प्रताडि़त करने लगा था। इसी मुद्दे को लेकर रवि ने 28 जनवरी को भी चंद्रिका से साथ मारपीट की थी। जिससे परेशान चंद्रिका ने स्वयं को जहरीला इंजेक्शन लगा लिया था। उपचार के लिए चंद्रिका जिला अस्पताल लाए जाने पर डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया था। पुलिस ने आरोपी रवि साहू के खिलाफ दफा 306 का अपराध पंजीबद्ध कर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को न्यायालय के समक्ष पेश किया गयाए जहां से उसे न्यायायिक अभिरक्षा के तहत जेल भेज दिया गया है।