हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने 84 उम्मीदवारों की पहली सूची देर रात जारी कर दी। एआईसीसी की ओर से रात 12:35 पर उम्मीदवारों के नाम घोषित किए गए। छह सीटों पर अंबाला कैंट, रादौर, लाडवा, बरवाला, फतेहाबाद और असंध सीट पर सहमति नहीं बन पाई है। पहली सूची में भजनलाल की बहू व कुलदीप बिश्नोई की पत्नी रेणुका बिश्नोई का नाम शामिल नहीं है।
हांसी से उनकी जगह ओमप्रकाश पंघाल को उतारा गया है। पंघाल भी कुलदीप के करीबी हैं। पंचकूला से पूर्व डिप्टी सीएम चंद्रमोहन और अंबाला से जसबीर मलौर को टिकट दिया गया है। अंबाला कैंट से निर्मल सिंह अपनी बेटी चित्रा सरवारा को टिकट दिलाने पर अडे़ हैं। हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर के समर्थक दिन भर दिल्ली में पार्टी कार्यालय पर हंगामा कर विरोध जताते रहे परंतु उनको टिकट में मायूसी मिली।
 
विधानसभा       उम्मीदवार
 कालका     पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी
पंचकूला     चंद्रमोहन
नारायणगढ़     शैली
अंबाला सिटी     जसबीर मलौर
मुलाना     वरुण चौधरी
साढौरा     रेणु बाला
जगाधरी     अकरम खान
यमुनानगर     निर्मल
शाहाबाद     अनिल धंतौती
थानेसर     अशोक अरोड़ा
रेणुका को छोड़कर सभी विधायकों को टिकट
कांग्रेस ने पहली सूची में रेणुका बिश्नोई को छोड़कर सभी मौजूदा विधायकों को टिकट दिए हैं। राई में कांग्रेस ने आचार संहिता लगने से पूर्व इस्तीफा देने वाले विधायक जयतीर्थ दहिया पर विश्वास जताया है। रेणुका विश्नोई को अब हिसार जिले में बरवाला सीट से ही टिकट मिल सकता है। चूंकि, इस सीट पर अभी प्रत्याशी घोषित होना है। कांग्रेस ने भजनलाल के दोनों बेटों पूर्व डिप्टी सीएम चंद्रमोहन बिश्नोई व विधायक कुलदीप बिश्नोई पर विश्वास जताया है। इसके साथ ही बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव के दामाद और पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव के बेटे चिरंजीव राव को भी टिकट मिला है।

सैलजा-हुड्डा के बीच फंसी अंबाला कैंट सीट
अंबाला कैंट सीट कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बीच फंसकर रह गई है। हुड्डा यहां से अपने करीबी पूर्व मंत्री निर्मल सिंह की बेटी चित्रा को टिकट दिलाना चाह रहे हैं तो सैलजा अपना लोकसभा क्षेत्र होने के कारण अपने नजदीकियों व विश्वासपात्रों को टिकट देना चाह रही हैं। इसलिए कैंट सीट पर उम्मीदवार घोषित नहीं किया गया है। टिकट वितरण में हुड्डा की चली है और वह अपने करीबियों को टिकट दिलाने में सफल हुए हैं। ऐसे में टिकट वितरण पर उंगली उठा रहे पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर की नाराजगी और बढ़ सकती है। तंवर ने टिकट के लिए 80 समर्थकों की सूची हाईकमान को सौंपी थी।
पिहोवा     मनदीप सिंह चट्ठा
गुहला     दिल्लू राम बाजीगर
कलायत     जयप्रकाश
कैथल     रणदीप सुरजेवाला
पुंडरी     सतबीर सिंह जांगड़ा
नीलोखेड़ी     बंता राम बाल्मीकि
इंद्री     नवजोत कश्यप पंवार
करनाल     त्रिलोचन सिंह
घरौंडा     अनिल राणा
पानीपत ग्रामीण     ओपी जैन
पानीपत शहरी     संजय अग्रवाल
इसराना     बलबीर बाल्मीकि
समालखा     धर्म सिंह छोक्कर
गन्नौर     कुलदीप शर्मा
राई     जयतीर्थ दहिया
खरखौदा     जयबीर बाल्मीकि
सोनीपत     सुरेंद्र पंवार
गोहाना     विधायक जगबीर मलिक
बड़ौदा     विधायक श्रीकृष्ण हुड्डा
जुलाना     धर्मेंद्र ढुल
सफीदों     सुभाष देसवाल
जींद     अंशुल सिंगला
उचाना कलां     बलराम कटवा
नरवाना     विद्या रानी
टोहाना     परमवीर सिंह
रतिया     जरनैल सिंह
कालांवाली     शीशपाल केहरवाला
डबवाली     अमित सिहाग
रानियां     विनीत कंबोज
सिरसा     होशियारी लाल शर्मा
ऐलनाबाद     भरत सिंह बेनीवाल
आदमपुर     कुलदीप बिश्नोई
उकलाना     बाला देवी
नारनौंद     बलजीत सिहाग
हांसी     ओमप्रकाश पंघाल
हिसार     रामनिवास
नलवा     रणदहीर पनिहार
लोहारू     सोमबीर सिंह
बाढड़ा     रणबीर महेंद्रा
दादरी     मेजर नपेंद्र सिंह सांगवान
भिवानी     अमर सिंह
तोशाम     विधायक किरण चौधरी
बवानीखेड़ा     रामकिशन फौजी
महम     आनंद सिंह दांगी
गढ़ी सांपला किलोई     भूपेंद्र हुड्डा
रोहतक     बीबी बत्रा
कलानौर     शकुंतला खटक
बहादुरगढ़     राजिंदर जून
बादली     कुलदीप वत्स
झज्जर     गीता भुक्कल
बेरी     रघुबीर कादियान
अटेली     राव अर्जुन सिंह
नारनौल     नरेंद्र सिंह
महेंद्रगढ़     राव दान सिंह
नांगल चौधरी     राजा राम गोलवा
बावल     एमएल रंगा
कोसली     यदुवेंद्र यादव
रेवाड़ी     चिरंजीव राव
पटौदी     सुधीर चौधरी
बादशाहपुर     कमलवीर यादव
गुरुग्राम     सुखबीर कटारिया
सोहना     शमशुद्दीन
नूंह     आफताब अहमद
फिरोजपुर झिरका     माम्मन खान
पुन्हाना     मोहम्मद एजाज खान
हथीन     मोहम्मद से इजराइल
होडल     उदयभान
पलवल     करण दलाल
पृथला     रघुबीर तेवतिया
फरीदाबाद एनआईटी     नीरज शर्मा,
 
बड़खल     विजय प्रताप सिंह
बल्लभगढ़     आनंद कौशिक
फरीदाबाद     लक्ष्मण कुमार सिंगला
तिगांव     ललित नागर