भोपाल मध्य प्रदेश में किसान बारिश के मौसम में अतिवृष्टि से हुए नुकसान से अभी उभरे भी नहीं थे, एक बार फिर बेमौसम बारिश ने तबाही मचाई है| गुरूवार को प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश और ओले गिरे हैं| जिससे किसानों की फसलों को नुकसान होने की संभावना है| वहीं खुले में रखा अनाज भी भीग गया| बेमौसम बारिश के बाद सरकार भी नुकसान के सर्वे की तैयारी में जुट गई है| मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रशासन को नुकसान के सर्वे के निर्देश दिए हैं| उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी|

सीएम कमलनाथ ने किसानों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है| शुक्रवार को उन्होंने ट्वीट कर लिखा 'प्रदेश में कई हिस्सों में कल अचानक हुई बारिश , आँधी व ओलावृष्टि से फ़सलो को नुक़सान की जानकारी मिली। किसान  भाई चिंतित ना हो , सरकार संकट की इस घड़ी में आपके साथ है। हरसंभव मदद की जायेगी। प्रशासन को नुक़सानी के सर्वे के निर्देश"।

तत्काल किसानों को राहत दे सरकार: शिवराज

इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बेमौसम बारिश को लेकर ट्वीट किया और सरकार से जल्द से जल्द किसानों को राहत देने की मांग की| 'मध्यप्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में वर्षा और ओले गिर रहे हैं। मैं चिंतित हूं कि यह कुसमय की वर्षा और ओले अन्नदाता के लिए नई कठिनाइयां न खड़ी कर दें। प्रशासन और सरकार से अपील करता हूं कि तत्काल प्रभाव से राहत देने के लिए कदम उठायें अन्यथा किसानों को भारी नुकसान हो सकता है'। उन्होंने लिखा 'मैं जानता हूं कि मध्यप्रदेश में हुई इस असमय वर्षा और ओलावृष्टि ने किसानों को चिंतित कर दिया है। खासकर मालवा और निमाड़ के वे किसान अधिक परेशान हैं, जिनके प्याज बाहर पड़े हैं। मैं सरकार से अनुरोध करता हूं कि समस्या के विकराल होने की प्रतीक्षा न करें, तत्काल किसानों को राहत दें'।