ठाणे,मुंबई पुलिस ने कल्याण में हुई एक हत्या का पर्दाफाश किया है. ठाणे जिले के कल्याण इलाके में एक लड़की की लाश एक सूटकेस में बंद मिली थी, जिसमें लड़की का सिर ही गायब था. हत्या के बाद सूटकेस में लाश को बंद कर आरोपी ऑटो रिक्शा में डालकर फरार हो गया था. लड़की का हत्यारा कोई और नहीं बल्कि उसका सगा बाप है, जिसे लड़की का प्यार पंसद नहीं आया तो उसने लड़की को मौत के घाट उतार दिया.

पुलिस के एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम)  प्रवीण पवार के मुताबिक लड़की के पिता ने ही लड़की की हत्या की है. पुलिस को शक है कि यह मामला ऑनर किलिंग का है.

पुलिस ने घटना के बारे में बताते हुए कहा है कि एक अनजान शख्स रविवार सुबह करीब 5:25 बजे भिवंडी की ओर जाने के लिए कल्याण स्टेशन पर ऑटोरिक्शा में सवार हुआ. ऑटो में जब शख्स सवार हुआ तो सूटकेस से बदबू आ रही थी. जब इस मामले में उसने यात्री से पूछा तो वह सूटकेस छोड़कर फरार हो गया.

जब इस मामले में ऑटो ड्राइवर को शक हुआ तो उसने पास के अन्य ऑटो चालकों को इकट्ठा किया. जब ऑटो ड्राइवर ने ड्राइवरों की मौजूदगी में सूटकेस खोला तो उसे एक महिला की लाश मिली, जिसे कमर से तीन हिस्सों में काटा गया था. जब ठाणे पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तो पुलिस को कोई क्लू नहीं मिला. न तो मृत युवती की पहचान हो पा रही थी, न ही मृत युवती का सिर दिख रहा था और न ही आरोपी को पहचाना जा सका. पुलिस के पास एक ही क्लू था कि रेलवे स्टेशन के बाहर एक शख्स लाल रंग की टीशर्ट में घूम रहा है.

पुलिस के हाथ पहला सुराग कल्याण स्टेशन के पास का सीसीटीवी फुटेज था. पुलिस ने शख्स की रेलवे स्टेशन पर गतिविधि की निगरानी की. ठाणे क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने फुटेज स्कैन किया, जिसके बाद आरोपी के हाथ में एक सूटकेस देखा गया. शख्स टिटवाला रेलवे स्टेशन से ट्रेन में सवार हुआ था.

कैसे पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपी?

ठाणे पुलिस के मुताबिक यूनिट के सदस्यों ने कई ऑटो ड्राइवरों से इस मामले में बातचीत की. इसके साथ ही टिटवाला रेलवे स्टेशन के पास पुलिस ने उस ड्राइवर से भी बात की जिसकी गाड़ी में आरोपी सूटकेस लेकर सवार हुआ था. पुलिस ने आसपास के इलाकों में आरोपी की तस्वीर दिखाकर पूछताछ की तो आरोपी के बारे में पता चला. पुलिस ने आरोपी को उसके घर से ही गिरफ्तार कर लिया.

परिवार के लिए आई थी पुणे

प्राथमिक जांच में पुलिस को पता चला है कि मृत लड़की का नाम प्रिंसी तिवारी है, जो चार महीने पहले ही उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले से पुणे आई थी. प्रिंसी ने हाल ही में अपना ग्रेजुएशन पूरा किया था. वह अपने परिवार की मदद करने महाराष्ट्र आई थी. आरोपी अरविंद तिवारी टिटवाला स्थित आवास में अकेले रहता है, वहीं पत्नी और उसकी 4 बेटियां जौनपुर में रहती हैं. प्रिंसी टिटवाला 4 महीने पहले ही आई थी और एक भांदुप स्थित प्राइवेट फर्म में क्लर्क की नौकरी करती थी.

बेटी के रिश्ते पर पिता को था ऐतराज

दावा किया जा रहा है कि यहीं एक आदमी के साथ वह रिलेशनशिप में आ गई, जिसका पिता ने कई बार विरोध किया. आरोपी पिता को डर था कि इस रिश्ते से उसकी बहन की शादियों पर इस रिश्ते का फर्क पड़ेगा. वह कई बार लड़की को टोक चुका था, लेकिन लड़की सुन नहीं रही थी. पिता को डर था कि इससे समाज में बदनामी होगी.

आरोपी पिता की बात जब प्रिंसी ने नहीं सुनी तो उसने अपनी ही बेटी को मौत के घाट उतार दिया. आरोपी का नाम मनीष तिवारी है और उम्र 47 बरस की है. आरोपी पिता ने पुलिस के सामने यह माना है कि मृत लड़की उसकी बेटी है और वह ऐसे लड़के साथ रिलेशनशिप में थी, जिससे रिश्ता रखने के लिए उसने मना किया था.

पुलिस को शरीर के अन्य हिस्सों की तलाश

पिता के बार-बार टोकने पर जब लड़की नहीं मानी तो दरिंदा पिता ने अपनी ही बेटी को मौत के घाट उतार दिया. पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लिया है, साथ ही पूछताछ कर रही है. पुलिस यह भी जानने की कोशिश कर रही है प्रिंसी तिवारी के शरीर अन्य हिस्सों को आरोपी ने कहां दफनाया है.