अहमदाबाद | गुजरात भाजपा के प्रवक्ता भरत पंड्या ने धमन-1 वेन्टीलेटर को लेकर कांग्रेस के आरोपों पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि समूची कांग्रेस विदेशी नेतृत्व के वेन्टीलेटर पर है| कांग्रेस के आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए भरत पंड्या ने कहा कि वह स्वदेशी उत्पादकों और दाताओं को बदनाम करने का प्रयास कर रही है| भाजपा कांग्रेस के झूठे आरोपों की कड़े शब्दों में निंदा करती है| उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी के कारण आज समूचे विश्व में वेन्टीलेटर की किल्लत है और हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रम्प ने 200 वेन्टीलेटर्स भारत को देने की बात कही है| दूसरी ओर गुजरात की एक ज्योति कंपनी ने कोरोना के मरीजों के लिए 886 वेन्टीलेटर मुफ्त देकर जन सेवा और देश सेवा का उत्तम उदाहरण पेश किया है| जिसे लेकर किसी प्रकार का विवाद पैदा नहीं होना चाहिए| उन्होंने कहा कि भारत सरकार की तीन अधिकृत कंपनियां नेशनल एक्रेडिटेशन बोर्ड फोर लेबोरेटरी (एनएबीएल), इलेक्ट्रोनिक एन्ड क्वॉलिटी डेवलपमेंट सेंटर (ईक्यूडीसी) इंटरनेशनल इलेक्ट्रिक सर्टिफिकेशन (आईईसी) द्वारा राजकोट की ज्योति कंपनी के धमन-1 वेन्टीलेटर के तौर पर प्रमाणित कर सेफ्टी एन्ड पर्फोर्मन्स टेस्ट यानि कि इलेक्ट्रिकल सेफ्टी और मिकेनिकल सेफ्टी में मापदंडों के मुताबिक घोषित किया है| इसके बावजूद कांग्रेस आधारहीन आरोप लगा रही है| भरत पंड्या ने बताया कि पोंडिचेरी सरकार ने भी 25 वेन्टीलेटर्स का ऑर्डर दिया है| इसके अलावा महाराष्ट्र सरकार के लिए एक निजी दाता ने 25 वेन्टीलेटर्स और भारत सरका के लाइफ केयर लिमिटेड (एचएएल) द्वारा इस कंपनी को 5000 वेन्टीलेटर बनाने का ऑर्डर दिया है| इसमें कांग्रेस को क्या गलत लग रहा है? कांग्रेस के विचार, बयान और कार्यक्रम हमेशा जनहित और देशहित विरोधी क्यों होते है? कांग्रेस किसी भी मुद्दे को लेकर विवाद, दुष्प्रचार, अराजकता फैलाने का लगातार प्रयास करती है| लेकिन गुजरात या देश की जनता ने उसका कभी समर्थन नहीं किया| यानी कांग्रेस की पूरी पार्टी ही वेन्टीलेटर पर है| उन्होंने सवाल किया कि आखिर इस प्रकार के आरोप लगाने के पीछे कांग्रेस का मकसद क्या है? कांग्रेस को लोकल को वोकल बनाने का विरोध है या कांग्रेस गुजरात के उत्पादक और दाताओं को बदनाम करना चाहती है? उन्होंने कहा कि कांग्रेस जन सेवा और देश सेवा करने वाले लोग और कोरोना वॉरियर्स का सम्मान करने के बजाए उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रही है|