इन्दौर । सम्पूर्ण विश्व में मधुमेह रोग के प्रति जागरूकता हेतु 14 नवम्बर को विश्व मधुमेह दिवस मनाया जाता है। इस बार की थीम परिवार और मधुमेह है l इस जागरूकता के कार्य में शहर में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता रहा है l इसी कड़ी में मधुमेह चौपाल एवं से रेडिएन्स क्लिनिक द्वारा इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के सहियोग से विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर शहर के पुलिसकर्मी और कुछ चुनिंदा स्थानों पर नि:शुल्क शुगर परीक्षण किया जाएगा साथ ही उन्हें इस बारे में जागरूक भी किया जाएगा। इसकी शुरुआत गुरूवार 14 नवम्बर को सुबह 8 बजे 56 दुकान से होगी, उसके बाद डीआरपी लाइन, एसपी ऑफिस, 15 बटालियन आदि स्थान पर रेंडम ब्लड शुगर की जांच होगी। इस विश्व मधुमेह दिवस पर जो पुलिसकर्मी नि:स्वार्थ भाव से शहर की सुरक्षा में अपने दिन और रात लगा देते है, उन्हें उनकी अच्छी सेहत का उपहार दिया जा रहा है। जिसमे करीब 2000 से ज्यादा पुलिसकर्मियों और उनके परिवारजनों के शामिल होने की उम्मीद है।
मधुमेह चोपाल के ख्यात एंडोक्रोनोलॉजिस्ट डॉ. संदीप जुल्का ने बताया कि “दुनिया भर में मधुमेह रोगियों की संख्या निरंतर बढ़ रही है। हमारे देश में भी करोड़ों लोग इस बीमारी से ग्रसित है। मधुमेह ऐसी बिमारी है जो अपने साथ सैकड़ों बिमारियों को भी आमंत्रण दे देती है। इसलिए इस बीमारी को कभी भी इग्नोर नहीं करना चाहिए। हर साल 14 नवम्बर को मधुमेह के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए के एक थीम तय की जाती है। इस साल की थीम ' फैमिली और डाइबिटीज ' है। यह थीम बताती है कि हमें मधुमेह की रोकथाम करना है तो मधुमेह रोगियों के साथ ही उनके परिवारों को भी जागरूक करना जरुरी है। आज के समय में भी 50 प्रतिशत लोगों को पता नहीं रहता है कि उन्हें मधुमेह है। क्योंकि मधुमेह का पता परीक्षण के माध्यम से चलता है। इसीलिए हम 14 नवम्बर को शहर में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के साथ मिलकर हमारे रखवालों यानी पुलिसकर्मियों और उनके परिवारों का नि:शुल्क शुगर परीक्षण करेंगे। साथ ही हेल्थ केयर सोल्जर टीम के सदस्यों के द्वारा सभी को इस बीमारी के लक्षण, बचाव और उपचार के बारे में भी जानकारी प्रदान की जाएगी। साथ ही अनंत अमन सोसाइटी के कुछ बच्चो द्वारा पुलिस वालो को उनकी सेवा के लिए एक आभार पत्र भी भेट किया जायेगा l 
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के प्रेसिडेंट डॉ. शेखर राव ने बताया कि सम्पूर्ण विश्व में मधुमेह रोगियों की संख्या में हो रही वृद्धि को देखते हुए वर्ष 1991 में अंतरराष्ट्रीय मधुमेह संघ एवं विश्व स्वास्थ्य संगठन ने संयुक्त रूप से इस बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु प्रति वर्ष विश्व मधुमेह दिवस आयोजित करने का विचार किया था। लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए ही हर वर्ष 14 नवम्बर को विश्व मधुमेह दिवस मनाया जाता है। शहर में जिनकी बदौलत हम लोग सुरक्षित रह पाते है उन बहादुर पुलिसवालों और उनके परिवारों के लिए प्रशिक्षित टीम के द्वारा निशुल्क शुगर परीक्षण किया जाएगा। जिसमे करीब 2000 से ज्यादा पुलिसकर्मियों और उनके परिवारजनों के शामिल होने की उम्मीद है।