लंदन । कामवासना के अंधे लोग अपनी सेक्स इच्छा पूर्ति के लिए विचित्र तरीके अपना रहे हैं। सेक्स की तलब में ही महिलाएं आजकल अपनी जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रही हैं। नशे के लिए बीड़ी, सिगरेट और गुटके आदि में इस्तेमाल होने वाले तंबाकू का प्रयोग अब सेक्स के लिए भी किया जाने लगा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महिलाओं द्वारा वेजाइना (गुप्तांग) में तंबाकू रखकर सेक्स ड्राइव को बूस्ट करने की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। डॉक्टर्स का मानना है कि सेक्स की तलब में ऐसा कर रही महिलाएं अपनी जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रही हैं। एक तरफ जहां लोग इसे सेक्स ड्राइव को बूस्ट करने का फॉर्मूला बता रहे हैं वहीं, दूसरी ओर चिकित्सकों ने इसे लेकर चेतावनी जारी की है। डॉक्टर्स का कहना है कि ऐसा करने से आप हमेशा के लिए यौन सुख से हाथ धो बैठेंगे। स्मोकिंग प्रोडक्ट के जरिए सेक्स ड्राइव को बूस्ट करना मौत को दावत देने के समान है। तंबाकू अल्सर जैसी बीमारियों का कारण बन जाता है जो योनि को सिकोड़कर इसे कठोर बनाता है और इसे हमेशा के लिए बंद कर सकता है।
एक रिपोर्ट के मुताबिक तंबाकू सामान्य तौर पर होने वाले मेन्सट्रूएशन को भी प्रभावित करता है। मेन्स्ट्रुएशन पर असर पड़ने की वजह से महिलाओं को गर्भधारण करने में भी दिक्कतें होंगी। गाइनकोलॉजिस्ट डॉक्टर अब्डुलाये डियोप का कहना है कि ये वेजाइना के सिकुड़ने का भी बड़ा कारण बन सकता है। डियोप का कहना है कि वेजाइना में तंबाकू रखने वाले पीड़ितों ने महसूस किया है कि उनके गुप्तांग छोटे होते जा रहे हैं क्योंकि उनकी अंतरंग मांसपेशियां पीछे की तरफ खिसकने लगी हैं। उन्होंने कहा कि यह भावना क्षणिक और भ्रामक है, ऐसा करना वेजिनल मुकोसा के लिए खतरनाक है जिसके कारण कैंसर जैसी घातक बीमारी का खतरा भी बढ़ जाता है। इस तरह के ज्यादातर मामले वेस्ट अफ्रीका के देश सेनेगल से सामने आए हैं। इस देश में कई महिलाएं यौन सुख पाने के लिए अपनी जिंदगी से खिलवाड़ कर रही हैं। सेनेगल में लोगों के बीच ऐसी भ्रांतियां हैं कि 13 पैसे में मिलने वाला तंबाकू आपको सातवें स्वर्ग का एहसास करा सकता है। बता दें कि यह उत्पाद तंबाकू के सूखे पत्ते, पेड़ों की जड़ों और पौधों के अर्क से प्राप्त होता है। इसके अलावा इसे ज्यादा असरदार बनाने के लिए इसमें सोडा और शिआ बटर जैसे पदार्थ भी मिलाए जाते हैं। इस तरह की सभी चीजों को सेहत के लिए बेहद खतरनाक माना जाता है।