नई दिल्ली । देश भर में कोरोना वायरस के कारण सभी घरेलू उड़ानों पर रोक लगाने का फैसला केंद्र सरकार को लेना पड़ा है। नागरिक उड्डयन मंत्रायल ने जानकारी दी है कि देश में मंगलवार आधी रात से सभी उड़ानों पर रोक लगा दिया गया है। इश दौरान कार्गों सर्विस जारी रहेगी। इससे पहले कोरोना के खिलाफ जंग में भारतीय रेलवे ने बड़ा कदम उठाया है। रेलवे ने 31 मार्च तक मालगाड़ी छोड़कर सभी पैसेंजर और मेल एक्सप्रेस को बंद करने का फैसला किया है। रेलवे के इस फैसले से करीब 12 हजार 500 ट्रेनों का संचालन रुक गया है। इसके अलावा 500 सब-अर्बन ट्रेन के संचालन को भी रोकने का फैसला लिया गया है। 
- ट्रेन-मेट्रो सेवा भी बंद, अंतरराष्ट्रीय उड़ान पहले से बंद
दुनिया के सबसे बड़े रेल नेटवर्क में गिनी जाने वाली भारतीय रेल अब थम गई है। भारत सरकार ने कोरोना वायरस के चलते सभी पैसेंजर ट्रेनों को बंद कर दिया है। ये फैसला इसलिए लिया गया है ताकि लोग एक साथ जमा न हों। सिर्फ ट्रेन ही नहीं बल्कि दिल्ली-नोएडा-लखनऊ-मुंबई-बेंगलुरु-कोलकाता समेत देश के जिन भी शहरों में मेट्रो सर्विस है, उन्हें भी बंद किया गया है। कोरोना वायरस के मामले में देश में बढ़ ना पाएं, इसके चलते भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को पूरी तरह से बंद कर दिया। पहले ये फैसला कोरोना प्रभावित देशों के लिए हुआ था, लेकिन बाद में सभी के लिए ऐसा कर दिया गया। साथ ही विदेशी नागरिकों की एंट्री भी बंद कर दी गई।