रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) में होने वाले राष्ट्रीय आदिवासी महोत्सव (National Tribal Festival) को खास बनाने की तैयारी कांग्रेस (Congress) कर रही है. देश के कई शख्सियत को छत्तीसगढ़ आने का न्यौता सत्ताधारी दल कांग्रेस दे रही है. बता दें कि सरकार ने दावा किया है कि छत्तीसगढ़ में पहली बार आदिवासी महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि इसमें प्रदेश भर के आदिवासी नृत्य टोली सहित देश और विदेशों से भी कलाकार आ रहे हैं. राजधानी रायपुर में 27 और 29 दिसंबर को होने वाले इस आयोजन में आदिवासी संस्कृति नृत्य (Folk Dance)  का प्रदर्शन किया जाएगा. रायपुर के साइंस कॉलेज ग्राउंड में इस महोत्सव का आयोजन होना है. इस महोत्सव में देशभर के आदिवासी समूह के जनजातियों की उपस्थिति में सभ्यता और संस्कृति का आदान प्रदान किया जाएगा. आदिवासियों द्वारा निर्मित औषधि सामग्री का भी प्रदर्शन किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री को न्यौता

बता दें कि छत्तीसगढ़ में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय आदिवासी महोत्सव में शामिल होने के लिए उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा को आमंत्रित किया गया है. छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेम प्रेमसाय सिंह टेकाम और कार्यकर्ताओं ने यूपी जाकर उप मुख्यमंत्री से मुलाकात की और इस समारोह में शामिल होने का निमंत्रण दिया. बताया जा रहा है कि उपमुख्यमंत्री ने कार्यक्रम की भव्यता और आदिवासी के हितों को ध्यान में रखते हुए 29 दिसंबर को छत्तीसगढ़ आने की सहमति भी दे दी है.
सिक्किम के मुख्यमंत्री को भी न्योता

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सिक्किम के मुख्यमंत्री को भी निमंत्रण भेजा है. जानकारी के मुताबिक सूबे के संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने सोमवार को सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग से मुलाकात की और आदिवासी समारोह में शामिल होने का न्योता दिया.  मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग को छत्तीसगढ़ आने का आग्रह किया गया है. वहीं स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार से मिलाकात कर  27, 28, 29 दिसम्बर को आयोजित हो रहे राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में आने का न्योता दिया है. साथ ही बिहार के लोक कलाकारों को छत्तीसगढ़ के इस महोत्सव में भेजने का आग्रह किया.