रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में राजनीतिक तल्खियां बढ़ती ही जा रही हैं. नाथूराम गोडसे और सावरकर पर चली लंबी राजनीति (Politics) के बाद अब कांग्रेस (Congress) सरकार ने आरएसएस (राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ) को निशाना बनाना शुरू कर दिया है. पहले प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) और अब नगरीय प्रशासन मंत्री शि​व डहरिया (Shiv Daharia) ने आरएसएस (RSS) पर निशाना साधा है. मंत्री डहरिया ने निशाना साधते हुए आरएसएस को अंग्रेजों का मुखबिर (Informer) बता दिया. इस पर बीजेपी ने प्रतिक्रिया देते हुए नगरीय प्रशासन मंत्री का मानसिक संतुलन बिगड़ने की बात कही है.

नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया (Urban Administration Minister Shiv Dahria) ने आरएसएस (RSS) पर जमकर निशाना साधते हुए आरएसस को मुखबिर कहा है. इतना ही नहीं मंत्री ने कहा कि आजादी के इतिहास में आरएसएस (RSS) का कोई योगदान नहीं है. इनके नेता अंग्रेज के पीट्ठु थे. आजादी के लिए लड़ने वाले कांग्रेस के नेताओं को फांसी दिलाने का काम किया. शिव डहरिया ने कहा कि आरएसएस आज भी अपने कार्यालय में देश का नहीं काले झण्डे फहराती है. बता दें कि इससे पहले सीएम भूपेश बघेल भी आरएसएस पर खुलकर निशाना साध चुके हैं. सीएम बघेल ने भी एक बयान में कहा था कि आरएसएस नफरत फैलाने का काम करती है.

बीजेपी ने दिया ये बयान

मंत्री शिव डहरिया के बयान के बाद बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस पर निशाना साधा. बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने मंत्री डहरिया पर निशाना साधते हुए कहा है कि मंत्री शिव डहरिया का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है. कांग्रेस आरएसएस की धूल के बराबर नहीं है. इस तरह के बयानबाजी से कांग्रेस ध्यान बटाना चाहती है.