बीजिंग  । चीन खुद को विज्ञान और अंतरिक्ष के क्षेत्र में बेहद मजबूत करने में लगा हुआ है। अपने आधुनिकतम सैटेलाइट के जरिये चीन अब पूरी दुनिया पर नजर रखने और खासकर व्यापारिक और वाणिज्यिक डाटा इक_ा करने की कोशिश कर रहा है। इसी मिशन के तहत उसने तीन सैटेलाइट की लॉन्चिंग की। इन सैटेलाइट के जरिये पृथ्वी का अध्ययन करने के अलावा एक्स-रे लॉब्सटर आई से उन अनजाने अनछुए तथ्यों की तलाश करेगा जिस पर किसी की नजर नहीं गई है, साथ ही दुनिया के हर कोने से वाणिज्यिक डाटा भी इक_ा करेगा। ताइयुआन सैटेलाइट लॉन्च सेंटर से जी युआन-3 (अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट) के अलावा दो अन्य सैटेलाइट लॉन्च किए गए हैं। चाइना एयरोस्पेस साइंस एंड टेक्नॉलॉजी कॉरपोरेशन ने कहा है कि ये तीनों सैटेलाइट पृथ्वी के तमाम अनछुए पहलुओं को सामने लाने में मददगार साबित होंगे। इससे चीन की आसमानी ताकत और वैज्ञानिक क्षमताएं और बढ़ेंगी।  चीन ने तय किया है कि उसे 2050 तक खुद को साइंस और इनोवेशन के क्षेत्र में ग्लोबल लीडर बनना है। इसके लिए उसने उद्योग के क्षेत्र में खुद को बेहद विकसित किया है और अब उसकी कोशिश दुनिया के तमाम देशों से विज्ञान और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में सबसे आगे निकलने की है।