रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की कांग्रेस (Congress) अब केन्द्र की बीजेपी (BJP) सरकार के खिलाफ आर पार के मूड में है. धान खरीदी के मामले को लेकर छत्तीसगढ़ कांग्रेस (Chhattisgarh Congress) 5 नवंबर से 12 नवंबर तक प्रदेशव्यापी आंदोलन करेगी. इसके बाद 13 नवंबर को सड़क मार्ग से दिल्ली (Delhi) कूच कर 15 नवंबर को दिल्ली में केन्द्र सरकार के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन (Protest) करेगी. केन्द्र के खिलाफ आंदोलन की रणनीति तय करने के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel), पीसीसी चीफ मोहन मरकाम (Mohan Markam), प्रभारी पीएल पुनिया (PL Punia) ने इसकी जानकारी दी.

छत्तीसगढ़ कांग्रेस (Chhattisgarh Congress) ने प्रेस वार्ता में बताया कि प्रदेश भर के लाखों किसानों (Farmer) से केन्द्र सरकार के खिलाफ चिठ्ठी लिखवायी जाएगी. इसके बाद उन चिठ्ठियों को गाड़ियों में भर कर सड़क मार्ग से प्रधानमंत्री आवास तक ले जाया जाएगा और दिल्ली में शक्ति प्रदर्शन किया जाएगा. साथ ही यह भी कहा कि केंद्र सरकार सूबे के किसानों के साथ भेदभाव कर रही है और इसके खिलाफ छत्तीसगढ़ कांग्रेस हर स्तर पर आंदोलन करेगी.
इस तरह से कांग्रेस करेगी प्रदर्शन

कांग्रेस 5 से 12 नवंबर तक ब्लॉक स्तर पर केन्द्र सरकार के खिलाफ जनआंदोलन करेगी. इसके बाद 5 नवंबर से लाखों किसानों से पीएम के खिलाफ पत्र लिखवाया जाएगा, फिर 12 नवंबर तक ब्लॉक से लेकर जिला स्तर तक पत्रों को एकत्र किया जाएगा, 13 नवंबर सुबह 9 बजे राजीव भवन से कांग्रेसी दिल्ली के लिए सड़क मार्ग से निकलेंगे. 15 नवंबर को लाखों पत्रों के साथ पीएम आवास तक पहुंचने की रणनीति कांग्रेसी तैयार किए हैं. वहां शक्ति प्रदर्शन किया जाएगा.