पटना, बिहार में आज से नई विधानसभा का सत्र शुरू हो गया है. चुनाव में एनडीए की जीत और नीतीश कुमार के फिर से मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही राजद-जदयू में बयानबाजी हो रही है. सत्र के पहले दिन सभी नए विधायकों ने शपथ ली. सत्र के पहले दिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी से मुलाकात की. बता दें कि प्रोटेम स्पीकर ही नए विधायकों को शपथ दिलाता है. 


AIMIM विधायक की शपथ के दौरान विवाद
सत्र के पहले ही दिन AIMIM के विधायक अख्तरुल इमान ने शपथ लेते वक्त आपत्ति जाहिर की. उन्होंने शपथ पत्र में लिखे ‘हिन्दुस्तान’ शब्द को बोलने से इनकार किया और उसकी जगह ‘भारत’ का इस्तेमाल किया. दरअसल, AIMIM के विधायक अख्तरुल इमान का नाम जैसे ही सदस्यता की शपथ के लिए पुकारा गया वैसे ही उन्होंने खड़े होकर हिन्दुस्तान शब्द पर आपत्ति जता दी. अख्तरुल इमान को उर्दू भाषा में शपथ लेनी थी लेकिन उर्दू में भारत की जगह हिन्दुस्तान शब्द के इस्तेमाल पर उन्होंने आपत्ति जताते हुए प्रोटेम स्पीकर से भारत शब्द का इस्तेमाल करने की गुजारिश की.एआईएमआईएम के विधायक ने कहा कि हिंदी भाषा में भारत के संविधान की शपथ ली जाती है. मैथिली में भी हिन्दुस्तान की जगह भारत शब्द का ही इस्तेमाल किया जाता है लेकिन उर्दू में जो शपथ लेने के लिए जो पत्र मुहैया कराया गया है उसमें भारत की जगह हिन्दुस्तान शब्द का इस्तेमाल किया गया है.विधायक ने कहा कि वह भारत के संविधान की शपथ लेना चाहते हैं ना कि हिन्दुस्तान की संविधान की. बता दें कि इस बार AIMIM के पांच विधायक चुनाव जीते हैं और पहली बार विधानसभा में एंट्री ली है. गौरतलब है कि इस बार राजद विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन विपक्ष में बैठेगी. जबकि एनडीए में बीजेपी बड़ी पार्टी है और मुख्यमंत्री पद नीतीश कुमार के पास ही है. सदन में इस वक्त बीजेपी 74, जेडीयू 43, हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के चार, वीआईपी 4 और एक निर्दलीय सदस्य सत्तापक्ष के साथ दिखेंगे जबकि विपक्षी खेमे में आरजेडी 75, कांग्रेस 19, सीपीआई (माले) 12, सीपीआई 2 और सीपीएम के 2 सदस्य हैं. इसके अलावा पांच AIMIM, एक बसपा और एक एलजेपी सदस्य हैं.