भोपाल : हरदा जिले की बेटियों को भी 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ'' योजना का लाभ मिलेगा। किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने महिला-बाल विकास विभाग द्वारा नवाचार करते हुए संचालित 'महिला सशक्त वाहिनी प्रशिक्षण कक्षा'' में संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि देश, प्रदेश और समाज के सर्वांगीण विकास के लिये नारी सशक्तिकरण जरूरी है, इसके लिये महिलाओं एवं बालिकाओं के लिये संचालित प्रत्येक योजना का लाभ मिलना भी आवश्यक है। इस अवसर पर अध्यक्ष जिला पंचायत हरदा श्रीमती कोमल सुदीप पटेल भी मौजूद रहीं।

मंत्री श्री पटेल ने बालिकाओं को शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि अब जिले में 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ'' योजना का लाभ हमारी बेटियों को मिलने लगेगा। उन्होंने महिला सशक्त वाहिनी प्रशिक्षण कार्यक्रम में सम्मिलित बालिकाओं से कहा कि अपने लक्ष्य तक पहुँचने के लिये परिश्रमपूर्वक मन लगाकर प्रशिक्षण प्राप्त करें। महिला-बाल विकास विभाग द्वारा अन्य विभागों से समन्वय कर आपको नि:शुल्क प्रशिक्षण प्रदान करने का प्रशंसनीय कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बेटियाँ पढ़-लिखकर सदैव दो परिवारों का मान बढ़ाती हैं। शासन द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना शुरू की गई है, जिसका उद्देश्य बेटियों के संरक्षण के साथ ही उन्हें शिक्षित कर सशक्त बनाना भी है।

जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री संजय त्रिपाठी ने महिला-बाल विकास विभाग द्वारा संचालित किये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ'' अभियान प्रदेश के 44 जिलों में संचालित है। इसमें हरदा सम्मिलित नहीं है। उक्त योजना के हरदा में चालू हो जाने पर बालिकाओं को अधिकाधिक लाभ मिल सकेगा। उन्होंने योजना के हरदा में संचालन संबंधी पहल, प्रयास और घोषणा पर कृषि मंत्री श्री पटेल का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में महिला-बाल विकास विभाग के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।