भोपाल. देश के सबसे बड़े फैसले पर मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh chauhan) की प्रतिक्रिया (Reaction) आ गई है. शिवराज ने कहा है कि, 'सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले का हम सब सम्मान करें. किसी की हार नहीं हुई है. हमारा देश ऐतिहासिक देश है. हमने दुनिया को हमेशा शांति (Peace) का संदेश दिया. मैं सभी से अपील करता हूं कि हम अपनी एकता, भाईचारा और प्यार बनाये रखें. सब मिलकर एमपी को शांति का टापू बनाये रखें.'

CJI ने सुनाया फैसला

अयोध्या मामले (Ayodhya case) में अब तक का सबसे बड़ा फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि विवादित जमीन रामलला विराजमान को दी जाए. सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाया जाए साथ ही केंद्र सरकार तीन महीने में इसकी योजना बनाए. वहीं सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन देने का भी फैसला किया गया है. सीजेआई ने कहा कि ये पांच एकड़ जमीन या तो अधिग्रहित जमीन से दी जाए या फिर अयोध्या में कहीं भी दी जाए. वहीं 2.77 एकड़ विवादित जमीन पर सरकार का अधिकार रहेगा.