शिवपुरी. शिवपुरी (shivpuri) ज़िला अस्पताल (District hospital)की शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आयी है. यहां एक मृत मरीज़ की लाश(deadbody) घंटों वॉर्ड के बेड पर पड़ी रही और उसकी आंख में चींटियां लग गयीं. ख़बर मिलते ही मुख्यमंत्री कमलनाथ (cm kamalnath)ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं. उन्होंने कहा इस तरह की असंवेदनशीलता कतई बर्दाश्त नहीं की जा सकती.

अमानवीय रवैया
शिवपुरी ज़िला चिकित्सालय से जो तस्वीरें सामने आई हैं वो मानवता को शर्मसार करने के साथ साथ अस्पताल प्रबंधन की असंवेदनशीलता की हैं. इस अस्पताल में बालचन्द लोधी का नाम का एक मरीज़ शुक्रवार से भर्ती था. मंगलवार को उसकी मौत हो गयी. जिस समय मौत हुई उस समय बालचन्द के पास परिवार का कोई सदस्य मौजूद नहीं था. उसकी पत्नी बच्चों को देखने घर चली गई थी,इसलिए काफी देर तक किसी को यह पता नहीं चला कि बालचंद की मौत हो गई है.
घंटों पड़ी रही लाश


मरीज़ के मरने के कई घण्टों बाद स्टाफ को इसका पता चला. सूचना देने के बाद  पहले नर्सों ने आकर देखा फिर डॉक्टर ने, लेकिन किसी ने भी लाश वहां से उठाने या परिवार को ख़बर देने की ज़हमत नहीं उठायी. अस्पताल में भर्ती बाक़ी मरीजों ने ही उसकी पत्नी को खबर दी.जब बालचंद की पत्नी अस्पताल आयी तब उसने देखा कि लाश में चींटी लग चुकी थीं. सैकड़ों चींटियां उसकी आंख चट कर रही थीं.
आंख खा रही थीं चींटियां
पत्नी के आते ही अस्पताल प्रबंधन ने उसकी पत्नी के साथ बालचंद के शव को रवाना कर दिया. बाद में तस्वीरें सोशल मीडिया पर आने पर ख़बर फैली. ख़बर लगते ही आज सुबह प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई और तत्काल अफसरों को तलब किया. बाद में कलेक्टर और कांग्रेस कार्यकर्ता अस्पताल पहुंच गए.
सीएम का ट्वीट
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवपुरी ज़िला अस्पताल की इस घटना को बेहद गंभीरता से लेते हुए कड़ी नाराज़गी जताई है. उन्होंने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं. साथ ही कहा है कि इस तरह की इस तरह की इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटनाएं कतई बर्दाश्त नहीं की जाएंगी. दोषी लोगों के खिलाफ सख़्त कार्रवाई की जाएगी.