हैदारबाद: तेलंगाना के हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के चारों आरोपियों को पुलिस ने शुक्रवार सुबह मुठभेड़ में ढेर कर दिया। हैदराबाद के पुलिस आयुक्त ने चारों आरोपियों की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि आरोपियों ने उस समय भागने की कोशिश की जब उन्हें मौका-ए-वारदात पर पूरी घटना का क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए ले गई थी।  

जिस जगह पीड़िता को जलाया वहीं हुए ढेर

पशु चिकित्सक के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने ठीक उसी जगह पर मार गिराया है जहां उन्होंने पीड़िता के साथ दरिदंगी को अंजाम दिया था। पुलिस सूत्रों के अनुसार क्राइम सीन रिक्रिएट करने के दौरान आरोपियों ने वहां से भागने की कोशिश की। जिसके बाद पुलिस ने उनका पीछा करते हुए रोकने के लिए गोली चलाई। जिसमें उनकी मौत हो गई। पुलिस ने फिलहाल सभी के शवों को मौके से हटा दिया है ताकि किसी भी तरह का हंगामा होने से बचा जा सके।

सुबह तीन से छह बजे के बीच मारे गए आरोपी

सायबराबाद पुलिस आयुक्त वीसी सज्जनार ने कहा, 'आरोपी मोहम्मद आरिफ, नवीन, शिवा और चेन्नाकेशावुलू शादनगर के चटनपल्ली में पुलिस मुठभेड़ में आज सुबह मारे गए। सभी की मौत सुबह तीन बजे से छह बजे के बीच हुई। मैं घटनास्थल पर पहुंच गया हूं और जल्द ही आगे की जानकारी दी जाएगी।'

हथियार लेकर भाग रहे थे आरोपी

तेलंगाना के कानून मंत्री इंद्रकरण रेड्डी का कहना है कि कानूनी प्रक्रिया पूरी होने से पहले ही भगवान ने उन्हें सजा दे दी। आरोपियों ने भागने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उन्हें मुठभेड़ में मार गिराया। इससे हैदराबाद सहित पूरे देश में खुशी है। उन्होंने दावा किया है कि आरोपी पुलिस से हथियार लेकर भागने की कोशिश कर रहे थे।

इसलिए किया जाता है क्राइम सीन रीक्रिएट

पुलिस हैदराबाद के सभी आरोपियों को क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए लेकर गई थी। पुलिस क्राइम सीन को इसलिए रीक्रिएट करती है ताकि घटना से जुड़ी सभी कड़ियों को जोड़ा जा सके और मौका-ए-वारदात के हर ऐंगल की जांच की जा सके। पुलिस की ओर से यह जांच अदालती कार्रवाई के लिहाज से भी महत्पवूर्ण होती है और परिस्थितिजन्य साक्ष्यों के लिहाज से भी इसे अहम माना जाता है।

 

अब बेटी की आत्मा को मिलेगी शांति

पशु चिकित्सक के पिता ने पुलिस मुठभेड़ में मारे गए चारों आरोपियों पर कहा, 'मेरी बेटी की मौत को दस दिन हो चुके हैं। मैं इसके लिए पुलिस और सरकार के प्रति आभार व्यक्त करता हूं। अब मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी।'