नई दिल्ली ।  अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) ने कहा कि दिग्गज खिलाड़ी महेश भूपति सहित सभी खिलाड़ियों का वह सम्मान करता है। एआईटीए के अनुसार महेश भूपति की जगह रोहित राजपाल को डेविस कप के लिए गैर खिलाड़ी कप्तान बनाये जाने पर जिस प्रकार उसकी आलोचना की जा रही है वह सही नहीं है। इस प्रकार की धारणा बनायी जा रही है जिससे यह लगे कि टेनिस संघ अपने खिलाड़ियों का सम्मान नहीं करता। साथ ही कहा कि अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) ने अंतिम लम्हों तक ऐसा कोई संकेत नहीं दिया था कि वे डेविस कप मुकाबले को इस्लामाबाद से स्थानांतरित कर रहे हैं। आईटीएफ के मुकाबले को तटस्थ स्थान पर स्थानांतरित करने का फैसला करने से कुछ घंटों पहले एआईटीए ने भूपति की जगह रोहित राजपाल को नया कप्तान नियुक्त किया था। वहीं भूपति और शीर्ष खिलाड़ियों ने पाक में होने वाले इस मुकाबले के लिए खुद को अनुपलब्ध रखा था। आईटीएफ ने कार्यक्रम में बदलाव करते हुए इस मुकाबले को 29-30 नवंबर को तटस्थ स्थल पर कराने का फैसला किया है। एआईटीए के सीईओ अखुरी विश्वदीप ने कहा कि इस तरह की धारणा बनाई गई कि एआईटीए तानाशाही तरीके से फैसला करता है जो सही नहीं है।
विश्वदीप ने कहा, ‘एआईटीए महेश भूपति और अन्य खिलाड़ियों का पूरा सम्मान करता है। अनिश्चितताओं के कारण पिछले कुछ महीने हमारे लिए आसान नहीं रहे लेकिन एआईटीए प्रबंधन को लेकर ऐसी धारणा बनाई गई जो प्रशंसनीय नहीं है। इसके विपरीत हम बताना चाहते हैं कि एआईटीए खिलाड़ियों और सभी संबंधित हितधारकों का सम्मान करता है। आयोजन स्थल में बदलाव का फैसला हमारी कूटनीति की जीत है। पिछले तीन महीने में हालांकि आईटीएफ ने कभी ऐसा संकेत नहीं दिया कि वह आयोजन स्थल बदलाने पर सहमत हो जाएगा।’