महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर सियासी खींचतान अब भी खत्म नहीं हुई है। कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए अभी तक शिवसेना और एनसीपी को समर्थन नहीं दिया है। इसी के साथ शिवसेना ने आज राज्यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने की इच्छा जताई। इससे पहले आज राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) नेता नवाब मलिक ने सोमवार को एक प्रेसवार्ता कर कहा कि एनसीपी सरकार बनाने में शिवसेना का समर्थन करने को तैयार है। वहीं, कांग्रेस की शाम चार बजे दूसरी बैठक हुई जो करीब पौने तीन घंटे तक चली जिसमें शिवसेना को समर्थन देने पर मंथन हुआ।  इससे पहले आज शिवसेना नेता संजय राउत सरकार बनाने को लेकर चर्चा के लिए उद्धव ठाकरे के घर पहुंचे थे। रविवार को भाजपा ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करके सरकार बनाने से मना कर दिया था। इसके बाद राज्यपाल ने दूसरा बड़ा दल होने के नाते शिवसेना को सरकार बनाने का न्योता दिया था। आज दिनभर के घटनाक्रम के बाद शिवसेना नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात की।  

भाजपा कोर कमेटी की बैठक 

मुंबई में भाजपा कोर कमेटी की बैठक खत्म, सुधीर मुनगंटीवार ने कहा- मौजूदा हालात पर हमारी नजर। हमारी भूमिका वेट एंड वॉच की। 
 

राज्यपाल ने दिया एनसीपी को न्योता 

अजीत पवार, धनंजय मुंडे और एनसीपी के अन्य नेता राज्यपाल से मिलने राजभवन पहुंचे। राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए कल रात 8.30 बजे तक का वक्त दिया। जयंत पाटिल ने कहा कि राज्यपाल ने हमें सरकार बनाने के लिए पत्र दिया है। हम अपने सहयोगी दलों से बातचीत कर रहे हैं।
राज्यपाल की ओर से एनसीपी को बुलावा 

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि राज्यपाल ने दूसरे बड़े दल होने के नाते एनसीपी को बुलाया है। हमारे नेता राज्यपाल से मिलने गए हैं। हम कांग्रेस के साथ बैठकर सामूहिक फैसला लेंगे। कांग्रेस की बैठक हुई, पवार साहब से बात हुई। कहा है कि पवार साहब से बात करके आखिरी फैसला करेंगे। शिवसेना ने भी कहा कि अन्य दलों से बात कर रहे हैं हमें और समय दें। 
एनसीपी नेता अजीत पवार ने कहा- राज्यपाल ने फोन करके हमें बुलाया। छगन भुजबल, जयंत पाटिल और मैं राज्यपाल से मिलने जा रहे हैं। हमें नहीं पता कि उन्होंने हमें क्यों बुलाया है। 


शिवसेना ने मांगा तीन दिन का वक्त, नहीं मिला

राजभवन की तरफ से बयान जारी-
 शिवसेना के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से मुलाकात की और सरकार बनाने की इच्छा जाहिर की। हालांकि वह समर्थन का पत्र नहीं सौंप सके। शिवसेना ने समर्थन का पत्र सौंपने के लिए तीन दिन का वक्त मांगा। हालांकि राज्यपाल ने और समय देने में असमर्थता जाहिर की। 

आदित्य ठाकरे ने मांगा और वक्त 

आदित्य ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि राज्यपाल ने हमें 48 घंटे का समय देने से इनकार किया है। हालांकि हमारा दावा अभी भी बरकरार है और अभी भी हमारे पास थोड़ा समय है। हम अभी भी महाराष्ट्र को ईमानदार और सच्चाई से भरपूर सरकार देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमने 24 घंटे के भीतर राज्यपाल से मुलाकात की है। हम अभी भी सरकार बनाने की इच्छा रखते हैं। दूसरी पार्टियों से बातचीत चल रही है। राज्यपाल ने लिखित में कुछ नहीं कहा है, इसलिए हमारी कोशिशें जारी हैं। 
बता दें कि राज्यपाल ने शिव सेना को सिर्फ 24 घंटे का समय दिया है। 

खड़गे बोले- मुंबई में होगी चर्चा 

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- कार्यसमिति की बैठक में महाराष्ट्र पर चर्चा हुई है। कांग्रेस अध्यक्ष ने शरद पवार जी से बातचीत की है। आगे की चर्चा कल मुंबई में होगी। 


कांग्रेस का बयान

कांग्रेस की तरफ से बयान और चिट्ठी जारी। इसमें कहा गया है- महाराष्ट्र के हालात पर कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में चर्चा हुई। इसे लेकर महाराष्ट्र के कांग्रेस नेताओं के साथ भी बैठक हुई। कांग्रेस अध्यक्ष ने शरद पवार जी से बात की। पार्टी एनसीपी के साथ और बातचीत करेगी। 
 

कांग्रेस ने दिया शिवसेना को समर्थन 

आदित्य ठाकरे, एकनाथ शिंदे व दूसरे शिव सेना नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात की। इस बीच बड़ी खबर ये है कि उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र सीएम पद की कमान संभाल सकते हैं। 

उद्धव राज्यपाल से मिलने के लिए रवाना 

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात के लिए आदित्य ठाकरे और एकनाथ शिंदे राजभवन पहुंचे। बताया जा रहा है कि शिवसेना राज्यपाल से 24 घंटे का वक्त मांग सकती है। 

कांग्रेस विधायकों से बात करेंगी सोनिया

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायकों से शिव सेना को समर्थन देने के मुद्दे पर बात की। कांग्रेस विधायक अभी जयपुर के एक होटल में ठहरे हुए हैं। 

एकनाथ शिंदे करेंगे सरकार बनाने का दावा पेश

शिवसेना के विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे राज्यपाल कोश्यारी से मिलकर करेंगे सरकार बनाने का दावा पेश। शिवसेना के पास 170 से अधिक विधायकों के समर्थन का दावा। कांग्रेस, एनसीपी के सहयोग से बनाएगी सरकार। शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष करेंगी शिवसेना को समर्थन देने की घोषणा। सरकार के स्वरूप पर चर्चा कल। 
 

 

उद्धव ने किया सोनिया गांधी को फोन

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बीच फोन पर हुई बातचीत।  उद्धव ने फोन करके सोनिया गांधी से समर्थन मांगा। सोनिया गांधी ने कहा कि सहयोग देने पर विचार कर रहे हैं।  

एंटनी-पटेल पहुंचे 10 जनपथ 

दिल्ली:  कांग्रेस नेता एके एंटनी और अहमद पटेल सोनिया गांधी से मिलने 10 जनपथ पहुंचे। महाराष्ट्र कांग्रेस के बड़े नेताओं को चर्चा के लिए दिल्ली बुलाया गया है। राजीव सातव, माणिक राव ठाकरे, अशोक चव्हाण, अविनाश पांडेय भी बैठक में पहुंचे। 

दिल्ली में उद्धव ठाकरे के प्रतिनिधि मिलिंद नर्वेकर ने अहमद पटेल से मुलाकात की। 

 

अरविंद सावंत ने दिया कैबिनेट से इस्तीफा 

सोमवार को शिवसेना के कोटे से केंद्र सरकार में भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री का पदभार संभालने वाले अरविंद सावंत ने पद से इस्तीफा देने का एलान कर दिया है। उन्होंने कहा कि मैं अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे रहा हूं।

सावंत ने अपने ट्विटर पर लिखा, 'लोकसभा चुनाव से पहले सरकार गठन को लेकर एक फॉर्मूला तय हुआ था। लेकिन अब इस फॉर्मूले को मना किया जा रहा है। भाजपा ने झूठ की जरिए महाराष्ट्र में काफी प्रगति की। शिवसेना हमेशा सच के साथ खड़ी होती है। इतने झूठे माहौल में दिल्ली सरकार में क्यों रहना? इसीलिए मैं केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे रहा हूं। मैं दिल्ली में आज सुबह 8.30 बजे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करूंगा।'

शिवसेना को समर्थन देने के पक्ष में हैं एनसीपी के सभी विधायक 

आदित्य के साथ उद्धव ठाकरे पवार से मिलने के लिए उनके घर जा रहे हैं। वहीं एनसीपी के सभी विधायक सत्ता और कांग्रेस के 40 विधायक सरकार में शामिल होना चाहते हैं। यदि शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी की सरकार बनती है तो शिवसेना के पास 16, एनसीपी के पास 14 और कांग्रेस के पास 12 मंत्री पद हो सकते हैं। सरकार बनाने के लिए एनसीपी का समर्थन पत्र तैयार है। जिसमें सभी एनसीपी विधायकों के हस्ताक्षर हैं।

सोनिया ने पवार को दी हरी झंडी

सोनिया गांधी ने शरद पवार को आगे बढ़ने की स्वीकृति दे दी है। अंतिम फार्मूले पर सोनिया और शरद के बीच चर्चा होनी है। उद्धव से चर्चा के बाद शरद पवार सोनिया गांधी से बात करेंगे। मुख्यमंत्री पद शिवसेना के पास रहेगा। ऐसे में वह जिसे चाहे मुख्यमंत्री बनाने के लिए स्वतंत्र है। सरकार न्यूनतम साझा कार्यक्रम के तहत चलेगी। दस जनपथ पर चल रही सोनिया, अहमद पटेल, वेणुगोपाल, एके एंटोनी की कोर ग्रुप की बैठक में न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर चर्चा चल रही है जिसकी चार बजे सीडब्ल्यूसी की बैठक में दोबारा मंजूर करके घोषणा की जाएगी।

एनसीपी सरकार बनाने को तैयार

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने सोमवार को एक प्रेसवार्ता में यह भी कहा कि सरकार बनाना हमारी जिम्मेदारी है। हमारा जो भी फैसला होगा कांग्रेस से बात करके ही होगा। अभी तक एनसीपी ने कोई फैसला नहीं किया है। विधायक चाहते हैं कि शिवसेना के साथ सरकार बने। एनसीपी सरकार बनाने के लिए तैयार है। शाम चार बजे के बाद ही तस्वीर साफ हो पाएगी। हमने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था इसलिए फैसला भी मिलकर ही करेंगे।

ठाकरे आवास पहुंचे संजय राउत

इससे पहले शिवसेना के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत उद्धव ठाकरे से मिलने के लिए उनके आवास मातोश्री पहुंचे।

कांग्रेस की अहम बैठक 

वहीं ऐसी अटकलों ने जोर पकड़ना शुरू कर दिया है कि शिवसेना कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर राज्य में सरकार बना सकती है। इसी को लेकर आज कांग्रेस नेताओं की बैठक होनी है। जिसे लेकर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, 'आज सुबह 10 बजे एक बैठक है। हम हाई कमान से मिले निर्देश के अनुसार आगे बढ़ेंगे। लेकिन हमारा वास्तविक फैसला और जनता का निर्णय यही है कि हम विपक्ष में बैठे। यह वर्तमान स्थिति है।' इसके लिए जयपुर में मौजूद कांग्रेस विधायकों को मुंबई बुलाया गया है।

 

भाजपा कोर समिति की बैठक

मुबंई में पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के आवास पर आज भाजपा कोर समिति की बैठक होगी।

कांग्रेस ने बुलाई कार्यसमिति की बैठक

कांग्रेस महाराष्ट्र में राजनीतिक परिस्थिति को लेकर सोमवार को दिल्ली में पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर कार्यसमिति की बैठक बुलाई है।


पार्टी की कोर समिति की बैठक करेंगे शरद पवार

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार आज मुंबई में प्रमुख नेताओं के साथ बैठक करेंगे। यह बैठक महाराष्ट्र की वर्तमान राजनीतिक हालातों को लेकर की जाएगी। इसमें प्रफुल्ल पटेल, सुप्रिया सुले, अजित पवार, जयंत पाटिल और अन्य नेता शामिल होंगे।

जल्दी चुनावों के लिए रहें तैयार

कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने ट्वीट करते हुए जल्दी चुनाव के लिए तैयार रहने को कहा है। उन्होंने लिखा- 'चाहे कोई भी, कैसे भी सरकार बनाए लेकिन महाराष्ट्र में बनी राजनीतिक अस्थिरता को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। जल्दी चुनावों के लिए तैयार हो जाइए। चुनाव 2020 में भी हो सकते हैं। क्या हम चुनावों में शिवसेना के पार्टनर के तौर पर जा सकते हैं?'

कांग्रेस से करेंगे बात

शरद पवार ने शिवसेना सांसद के केंद्रीय कैबिनेट से इस्तीफे को लेकर कहा, 'मेरी किसी के इस्तीफे लेकर किसी के कोई बात नहीं हुई है। हम आज कांग्रेस से बात करेंगे। जो भी निर्णय लिया जाएगा वो कांग्रेस के साथ बातचीत के बाद ही होगा।'

सोनिया गांधी के आवास पहुंचे कांग्रेस नेता

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के लिए अहमद पटेल, केसी वेणुगोपाल और मल्लिकार्जुन खड़गे पहुंच गए हैं। यह बैठक महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति को लेकर हो रही है

 

जनता दल (सेकुलर) के प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने महाराष्ट्र के बारे में कहा है कि अगर कांग्रेस शिवसेना को समर्थन देती है, तो उन्हें उन्हें अगले पांच सालों तक परेशान नहीं करना चाहिए। तभी लोग कांग्रेस पर भरोसा करेंगे।

उन्होंने कहा, बालासाहेब ने महाराष्ट्र में भाजपा को जगह दी, आडवाणी और वाजपेयी बाला साहेब के आवास पर गए और उनसे सीटों के लिए अनुरोध किया। भाजपा ने इस बात का फायदा उठाया इसीलिए उद्धव ठाकरे ने स्टैंड लिया कि वह उन्हें सबक सिखाएंगे।